भारत-चीन सीमा विवाद: मायावती बोलीं-ऐसे समय पर विपक्ष को भी आना चाहिए साथ

लखनऊ। गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इसको लेकर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमले कर रहा है। इस बीच बसपा प्रमुख मायावती ने सरकार का साथ देने का ऐलान किया है। मायावती ने कहा कि ऐसे समय विपक्ष को सरकार के साथ रहना चाहिए।

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि सत्ता पक्ष और विपक्ष को मिलकर चीन को सबक सिखाने की जरूरत है। मायावती ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि, जिसमें कहा कि, ‘अभी हाल ही में 15 जून को लद्दाख में चीनी सेना के साथ संघर्ष में कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मियों की मौत से पूरा देश काफी दुःखी, चिन्तित व आक्रोशित है। इसके निदान के लिए सरकार और विपक्ष दोनों को पूरी परिपक्वता तथा एकजुटता के साथ काम करना है।”

दूसरे ​ट्वीट में उनहोंने कहा है कि, ‘ऐसे कठिन एवं चुनौतीपूर्ण समय में भारत सरकार की अगली कार्रवाई के संबंध में लोगों और विशषज्ञों की राय अलग-अलग हो सकती है, लेकिन मूल रूप से यह सरकार पर छोड़ देना बेहतर है कि वह देशहित और सीमा की रक्षा हर हाल में करे, जो कि हर सरकार का दायित्व भी है।’

Gyan Dairy

 

Share