किसान नेता राकेश टिकैत से मिले जयंत चौधरी, कहा-पीएम मोदी को सुननी चाहिए किसानों की आवाज

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के आंदोलन को एक बार फिर से धार मिल गयी है। राकेश टिकैती के आंसूओं ने आंदोलन को एक नई दिशा दे दी है। हजारों की संख्या में फिर से किसान गापुर बॉर्डर पर पहुंच रहे हैं। गुरुवार शाम तक राकेश टिकैती की गिरफ्तारी की बातें कहीं जा रहीं थीं लेकिन उन्होंने अपनी गिरफ्तारी देने से मना कर दिया, जिसके बाद आंदोलन का रूख एक बार फिर से बदल गया।

वहीं, इस बीच आरएलडी नेता जयंत चौधरी भी वहां पहुंचे हैं और राकेश टिकैत से मुलाकाता की है। जयंत चौधरी ने कहा कि सरकार को किसानों की आवाज सुननी चाहिए और उनकी मांगें माननी चाहिए। आज संसद के बजट सत्र का पहला दिन है और ये मुद्दा संसद के अंदर भी उठना चाहिए।

अगर सरकार पीछे हटती है तो इससे उनकी कमजोरी नहीं झलकेगी। प्रधानमंत्री सब विषयों पर बोलते हैं, किसान के बारे में भी बोल दें। जयंत चौधरी ने कहा कि वह किसानों के साथ खड़े हैं और हमेशा खड़े रहेंगे। किसान देश का अन्नदाता है। सरकार बल प्रयोग से किसानों की आवाज को दबा नहीं सकती है।

Gyan Dairy

 

Share