UA-128663252-1

कानपुर: निजी पैथालॉजी में कोरोना पॉजिटिव, सरकारी में निगेटिव, ऐसे हुआ भंडाफोड़

कानपुर। कानपुर की नामचीन ज्ञान पैथालॉजी लैब में कोरोना नेगेटिव को पाॅजिटिव बताने का खेल पकड़ा गया है। लैब से कोरोना पाॅजिटिव बताए गए 30 लोग सरकारी अस्पताल में हुई जांच में नेगेटिव पाए गए हैं। डीएम ने सीएमओ को रिपोर्ट दर्ज कराने का आदेश दिया है।

दरअसल, 20 सितंबर को डीएम आलोक तिवारी और सीएमओ डॉ. अनिल कुमार मिश्र ने एक मरीज की शिकायत पर स्वरूप नगर स्थित ज्ञान पैथालॉजी लैब पर छापा मारा था। लैब की शिकायत एक मरीज ने की थी। उस मरीज को युगांडा जाना था। उसने लैब में कोरोना जांच कराई तो वह पाॅजिटिव निकला। उसने तुरंत दूसरी लैब में भी जांच कराई थी, जहां वह नेगेटिव निकला। उसने लैब की शिकायत जिलाधिकारी से की।

डीएम खुद जांच करने पहुंचे तो पता चला कि वहां कई मरीजों के नाम-पते और मोबाइल नम्बर गलत दर्ज हैं। डीएम आलोक तिवारी ने कहा कि गलत रिपोर्ट देना, पॉजिटिव मरीजों के पूरे एड्रेस न लिखना, ज्यादा पैसा लेना जैसी शिकायतें सही मिलीं तो लैब सील कर दी गई थी।

Gyan Dairy

इसके बाद एडीएम सिटी की निगरानी में तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई गई, जिसमें दो एसीएमओ शामिल किए गए थे। जांच कमेटी ने विस्तृत पड़ताल की है। जांच में 20 सितम्बर से तीन दिन पूर्व की सभी कोरोना जांचों के रिकार्ड लिए गए। कमेटी ने उन सभी मरीजों की दोबारा जांच की है। उसी जांच में 30 पॉजिटिव मरीज निगेटिव मिले हैं। अभी 12 की रिपोर्ट आनी बाकी है।

Share