केजीएमयू बनेगा लखनऊ का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन सेंटर, हेल्थ वर्कर का टीकाकरण जारी

लखनऊ|यूपी की राजधानी लखनऊ में केजीएमयू कोरोना वैक्सीनेशन का सबसे बड़ा सेंटर बनेगा। यहां रोज 3300 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा। उसके बाद पीजीआई में टीकाकरण शुरू होगा उसके बाद एरा और इंटीग्रल मेडिकल यूनिवर्सिटी भी टीकाकरण केंद्र होगा।
कोरोना से बचाव के टीकाकरण की तैयारियां पूरे जोरों में हैं। लखनऊ में 205 सरकारी व 750 प्राइवेट अस्पतालों में तैनात 55 से 60 हजार हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होना है। इसके लिए प्रशिक्षण और कोल्ड चेन बरकरार रखने का खाका तैयार कर लिया गया है। सोमवार और शुक्रवार को वैक्सीनेशन होगा। पांच सदस्यीय एक टीम 100 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण करेगी।

रोजाना करीब 15000 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा। केजीएमयू के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. डी हिमांशु के मुताबिक करीब नौ हजार हेल्थ वर्कर हैं। यहां 33 टीमें टीकाकरण करेंगी। रोजाना करीब 3300 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा। टीकाकरण के दौरान किसी भी प्रकार की अनहोनी से निटपने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। गांधी वार्ड में बेड आरक्षित किए गए हैं।

Gyan Dairy

लोहिया संस्थान में 2735 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा है। एकेडमिक ब्लॉक में तीन हाल में अभियान चलेगा। संस्थान के प्रवक्ता श्रीकेश सिंह के मुताबिक करीब 10 टीम होंगे। रोजाना 1000 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा। भवन के बाहर एम्बुलेंस आदि की व्यवस्था की गई है। विशेषज्ञों की टीम टीकाकरण स्थल पर मुस्तैद रहेगी। पीजीआई में 5500 हेल्थ वर्कर को कोरोना वैक्सीन लगाई जानी है। यहां 18 से 20 टीमें टीकाकरण अभियान में शामिल की जाएगी। रोजाना 1500 से 2000 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होगा।

Share