लव जिहाद: तिलक और कलावा बांध कर हिंदू लड़​की को अपने जाल में फंसाया, जानें पूरा मामला

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में लव जिहाद का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। युवती के पिता की ओर से मोहल्ले के बिलाल घोसी, उसकी मां, बहनें, शिवम शर्मा, विशाल और उसकी पत्नी के खिलाफ खिलाफ फुसलाकर अपहरण कर ले जाने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। लड़की के परिवार और हिंदू जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद के नेताओं का आरोप था कि यह लव जिहाद का मामला है। हिंदू बनकर बहला-फुसलाकर लड़की को अगवा किया गया है। उसे दिल्ली ले जाया गया। वहां जबरन उसका बयान बदलकर वीडियो वायरल कराया जा रहा है। इस मामले में बरेली में मंगलवार को किला थाने में जमकर बवाल हुआ। उन्होंने प्रदर्शन कर तोड़फोड़ की। जिस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। किला थाने के इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर और दरोगा समेत तीन पुलिस वालों को सस्पेंड किया गया है।

किला इलाके की लड़की ने दो साल पहले जिस बिलाल घोसी पर छेड़छाड़ की शिकायत की थी। थाने से लेकर परिवार वालों ने उसे काफी डांट डपट लगाई। बाद में लड़की उसी के साथ फरार हो गई। इसकी वजह से पूरे दिन किला थाने में बवाल रहा। आरोपी लड़का लड़की के साथ सातवीं तक पढ़ा था। आठवीं में फेल होने के बाद उसने दूध दही का पैतृक कारोबार संभाल लिया। लड़की उसे पहले से जानती थी। पुलिस को उसकी लोकेशन पहले हल्द्वानी मिली थी। अब वह दिल्ली में है।

आरोप है कि बिलाल हिन्दू दोस्तों के साथ उनकी तरह ही रहता था। वह मंदिर जाता था और माथे पर तिलक और चंदन भी लगाता था। उसके हाथ में कलावा बंधा रहता था। बिलाल और फरार लड़की एक दूसरे को पहले से जानते थे। बिलाल डेयरी चलता है और उसने सातवीं तक पढ़ाई की है। बिलाल आठवीं फेल और लड़की बीएससी कर रही थी। दोनों एक दूसरे से बातचीत करते थे। लड़की के परिजनों के मुताबिक दो साल पहले बिलाल ने उनकी बेटी के साथ छेड़खानी की थी और उन्होंने पुलिस से इसकी शिकायत भी की थी। लेकिन तब पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी। लड़की के पिता के मुताबिक बिलाल उनकी बेटी को बहला फुसलाकर ले गया है। उसने उनकी बेटी को गुमराह कर उसे अगवा किया है। वह और उसके साथी उनकी बेटी की हत्या भी कर सकते है। आरोपी लड़का माथे पर टीका लगकर, कलावा बांधकर घूमा करता था। उसके दोस्त भी ऐसे ही घूमते थे। वह लोग मंदिरों में जाते थे। अब भी उसके कई साथी ऐसे ही गलियों में घूमते थे।

Gyan Dairy

मंगलवार सुबह पुलिस को लोकेशन मिली कि लड़का और लड़की दिल्ली में हैं। इसके बाद दो दरोगाओं के साथ आठ पुलिस कर्मी दिल्ली पहुंच गये। पुलिस साकेत कोर्ट के बाहर थी। जबकि लड़का और लड़की वकीलों के साथ अंदर थे। बरेली में किला थाने में जब उन्हें बवाल की सूचना मिली तो वकीलों ने उनके मोबाइल नंबर बंद करवा दिये। जिसकी वजह से उनकी लोकेशन मिलनी बंद हो गई। बाद में लड़की और लड़का बुरका पहनकर कोर्ट से फरार हो गये। पुलिस बाहर खड़ी फोटो लेकर निकलने वालों का मिलान करती रह गई। बवाल न होता तो पुलिस लड़की को बरामद कर लेती।

Share