लखनऊ: शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक को सांस लेने में दिक्कत, ICU में भर्ती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शिया मुसलमानों के धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक को तबीयत बिगड़ने पर एक निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है। बेटे कल्बे नूरी ने बताया कि डॉक्टरों ने मौलाना कल्बे सादिक को निमोनिया होना बताया है। अभी उनकी हालत नाजुक है और उन्हें आईसीयू में रखा गया है। कल्बे नूरी ने उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए दुआ करने की अपील की है।

कल्बे नूरी ने बताया कि उनके पिता को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। कोविड 19 जांच रिपोर्ट में उनमें इस संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। उनके रक्तचाप और ऑक्सीजन के स्तर में लगातार गिरावट होने पर उन्हें मंगलवार की शाम आईसीयू में दाखिल किया गया था। उन्होंने बताया कि हालांकि मौलाना कल्बे सादिक की स्थिति गंभीर है मगर उसमें और गिरावट नहीं आयी है। गौरतलब है कि ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक पूरी दुनिया में अपनी उदारवादी छवि के लिये जाने जाते हैं।

Gyan Dairy

बता दें कि मौलाना कल्बे सादिक ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध किया था। उन्होंने कहा था कि यह देश संविधान से चलेगा। कोई नरेंद्र मोदी कोई अमित शाह हमारा भविष्य नहीं बना सकता। उन्होंने लखनऊ के घंटाघर में प्रदर्शन कर रही महिलाओं का उत्साह बढ़ाते हुए कहा था कि आज हर घर में उजाला दिखाई दे रहा है पर घंटाघर का अंधेरा इस सरकार को नहीं दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा था कि सीएए और एनआरसी काला कानून है इसे वापस लिया जाना चाहिए।

Share