UA-128663252-1

ATM को चकमा देकर निकाले 21 लाख…

दिल्ली के राजोरी गार्डन में पुलिस ने एक ऐसे शातिर को गिरफ्तार किया है जो एटीएम से एक खास तरीके से पैसे निकालता था खास बात ये होती थी की पैसे एटीएम से तो निकल जाते लेकिन अकाउंट से नहीं निकलते थे. पुलिस की गिरफ्त में आए शख्स जिसका नाम दिनेश कुमार लाल है जिसने एमबीए की डिग्री हासिल की हुई है और एक प्राइवेट कंपनी में बतौर ऑडिटर के तौर पर काम करता है जिसका काम बैंक एटीएम में कैश जमा कराना था. लेकिन दिनेश ने यूट्यूब पर एटीएम से पैसे निकलने का एक ऐसा शातिर तरीका खोज निकाला जिसको जान कर पुलिस के भी होश उड़ गए और उस नायाब तरीके से उसने बैंक को हजारों में नहीं बल्कि पूरे 21 लाख रुपए का चूना लगा दिया.

दिनेश ने पिछले 8 महीने में 200 से ज्यादा बार ट्रांजेक्शन की और हर बार पैसे निकालकर उसे डिक्लाइन करवा देता था. राजोरी गार्डन के यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के बैंक का जब ऑडिट हुआ तब 21 लाख की गड़बड़ी सामने आई. जिसकी शिकायत पुलिस से की गयी तो सीसीटीवी और बैंक ऑडिट डिटेल्स के जरिये पुलिस दिनेश तक पहुंच गई. पुलिस ने दिनेश के पास से 8 एटीएम कार्ड बरामद कर लिए है . पुलिस को लगता है कि इसने ओर भी कई बैंको को इसी तरह चूना लगाया है.

Gyan Dairy

यूट्यूब से दिनेश को पता चल गया था कि अगर पैसा निकालते वक़्त एटीएम में लगे सेंसर को धोखा दे दिया जाए तो पैसा तो निकल जाएगा लेकिन वो अकाउंट से नहीं कटेगा. आपको बता दे दिनेश एटीएम से पैसा निकालते वक़्त जैसे ही पैसा निकलता था. ऊपर और नीचे का आखिरी नोट छोड़कर बीच के सारे नोट पकड़ लेता था. और पकड़े हुए नोट को तब तक खींचता नहीं था जब तक टाइम आउट न हो जाए. एक पर्टिकुलर समय तक जब नोट को कोई नहीं निकलता या खींचता है तो एटीएम मशीन पैसा वापिस अंदर खींच लेता है. इसी का फ़ायदा उठाता था दिनेश. और जैसे ही टाइम आउट होता था ये बीच के पकडे नोट बाहर खींच लेता था. ये इस जालसाजी को करने के लिए एक ख़ास गत्ते का भी इस्तेमाल करता था.

Share