UP में साधुओं को​ मिलाकर इस माह हो चुकी 100 से ज्यादा हत्याएं, प्रियंका-अखिलेश ने योगी सरकार पर साधा निशाना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्याओं से यूपी की सियासत एक बार फिर गर्म हो गयी है। विपक्ष की भूमिका निभा रहे सपा प्रमुख अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मामले पर राजनीतिकरण न करते हुए निष्पक्ष जांच करवाकर कार्रवाई की जाए। जहां समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने घटना पर दुख जताते हुए न्यायोचित कार्रवाई की मांग की है वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मामले में प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा है कि अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही 100 लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं।

हत्याओं का राजनीतिकरण न हो

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, “उप्र के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की नृशंस हत्या अति निंदनीय व दुखद है। इस प्रकार की हत्याओं का राजनीतिकरण न करके, इनके पीछे की हिंसक मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है। इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए।”

प्रियंका का ट्वीट

वहीं प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही यूपी में सौ लोगों की हत्या हो गई. तीन दिन पहले एटा में पचौरी परिवार के 5 लोगों के शव संदिग्ध परिस्थितियों में पाए गए। कोई नहीं जानता उनके साथ क्या हुआ? आज बुलंदशहर में एक मंदिर में सो रहे दो साधुओं को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया। ऐसे जघन्य अपराधों की गहराई से जांच होनी चाहिए और इस समय किसी को भी इस मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।”

Gyan Dairy

सीएम योगी दे चुके हैं सख्त कार्रवाई के निर्देश

उधर बुलंदशहर में सोमवार देर रात दो साधुओं की हत्या के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) बेहद सख्त हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने तत्काल ही डीएम और एसएसपी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंच कर घटना के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। साथ ही मुख्यमंत्री ने दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए हैं।

ये है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर पर पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगनदास उम्र (55) वर्ष और सेवादास (35) रहते थे। दोनों साधु मंदिर में रहकर पूजा-अर्चना में लीन रहते थे। सोमवार की देर रात मंदिर परिसर में ही दोनों साधुओं की धारदार हथियारों से प्रहार कर हत्या कर दी गई। मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर में पहुंचे तो उन्हें साधुओं के खून से लथपथ शव पड़े मिले। इसे देखकर बड़ी संख्या में ग्रामीण मंदिर पर पहुंचे। वहीं एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि हत्यारोपी मुरारी को गिरफ़्तार कर लिया गया है, वह नशे में है। उससे पूछताछ की जा रही है।

Share