अपने ही परिवार के छह लोगों को उतारा मौत के घाट, ये रही वजह

लखनऊ। राजधानी के बंथरा थाना क्षेत्र में एक सिरफिरे व्यक्ति ने जमीन विवाद की रंजिश में अपने ही परिवार के छह सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद आरोपी खून से सना गड़ासा लेकर थाने पहुंच गया। उसकी हालत देखकर पुलिसकर्मी सन्न रह गए। उसने पूरी वारदात बताई तो पुलिस कमिश्ररी में भूचाल आ गया। आनन-फानन में जिले में तैनात अधिकारी एक-एक करके मौके पर पहुंचने लगे। पुलिस कमिश्नर पीआरओ ने बताया कि आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है अधिक जानकारी मिलने पर मीडिया से साझा किया जायेगा।

मिली जानकारी के मुताबिक गुरुवार की शाम ५.३० बजे थाना क्षेत्र के बनी-मोहान मार्ग पर स्थित नानामऊ गोंदौली गांव अजय सिंह (५०) पुत्र अमर कुमार ङ्क्षसह ने जमीन विवाद के कारण अपने पूरे परिवार के छह लोगों को मौत के घाट उतार दिया। आरोपी ने अपनी मां रामदुलारी (६५), पिता अमर सिंह (७०), भाई अरूण सिंह (४०), भाभी रामसखी (३५), भतीजा सौरभ (९), भतीजी सारिका (२) को गड़ासे से काट डाला। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी विक्षिप्त हालत में पास के चौकी पहुंचा, जहां तैनात पुलिसकर्मियों ने उसकी हालत देख दंग रहे गये। पुलिसकर्मियों ने आनन-फानन अपने उच्चाधिकारियों को घटना से अवगत कराया। घटना कुछ मिनटों में पूरे प्रदेश में आग की तरह फैल गये, जिसके बाद शासन-प्रशासन की फोन की घंटियां बजनी शुरू हो गयी। मिली जानकारी अनुसार पिता अमर सिंह ने पुस्तौनी जमीन बेचा था। जिसका पैसा अजय सिंह मांग रहा था। सूत्रों की माने तो अक्सर परिजन उसे पैसा देने से मना कर देते थे। जिसको लेकर वह परेशान था। लॉकडाउन के दौरान परिवार में आर्थिक तंगी होने के कारण वह विक्षिप्त हो गया। गुरुवार को उसने दुबारा पैसे की मांग कि जब पैसे देने से मां और पिता ने इनकार कर दिया तो वह आग बबूला हो गया और इस गघन्य अपराध को कारित किया। पुलिस के अनुसार सबसे पहले अजय ने मां को मौत के घाट उतारा उसके बाद उसने भाभी-भतीजी और भतीजे को गड़ासे से ताबातोड़ कई वार कर मौत के घाट उतार दिया।

घटना की जानकारी मिले ही जब पिता और भाई घर पहुंचे तो आरोपी ने अपने पिता और भाई पर भी जानलेवा हमला कर दिया और मौत के घाट उतार दिया। सूत्रों की माने तो इस घटना में आरोपी अजय का पुत्र अंकित भी शामिल था। घटना के बाद मौके पर पुलिस कमिश्नर सहित अन्य आलाधिकारी मौके पर पहुंचे।

Gyan Dairy

Share