हिंदुत्ववादी योगी के कॉलेज में प्रिंसिपल मुस्लिम, कहा- यहाँ कोई भेदभाव नहीं

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही हिंदुत्व की राजनीति करने के लिए जाने जाते हों, लेकिन उत्तराखंड में उन्हीं के द्वारा स्थापित किए गए डिग्री कॉलेज के प्रिंसिपल मुस्लिम हैं और कहते हैं कि उनके संस्थान में किसी भी तरह का भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जाता।

कॉलेज के प्रिंसिपल आफताब अहमद कहते हैं, इस कॉलेज की सबसे खास बात यह है कि यहां जाति, धर्म और रंग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं जाता। यह कॉलेज पहाड़ों के वातावरण जैसा शुद्ध है। जिस कमरे में बैठकर प्रिंसिपल हमसे बात कर रहे थे, उसमें कई स्वतंत्रता सेनानियों और हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें दिखाई दीं।

1999 में योगी आदित्यनाथ ने पौड़ी जिले में महायोगी गुरुगोरखनाथ डिग्री कॉलेज खोला था। उत्तराखंड में बीजेपी सरकार आने के बाद यह कॉलेज सरकारी सहायता प्राप्त कॉलेजों की लिस्ट में शुमार हो गया है।

अहमद साल 2014 पर कॉलेज के प्रिंसिपल नियुक्त किए गए। वह कहते हैं, हमारा उद्धेश्य बेहतरीन शिक्षा देना और इन युवाओं में मानवता और सहिष्णुता के मूल्य विकसित करना है।

Gyan Dairy

अहमद देहरादून के ही रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि कॉलेज में 150 स्टूडेंट्स पढ़ते हैं, जिनमें ज्यादातर लड़कियां हैं। 2005 में कॉलेज को एचएनबी गढ़वाल यूनिवर्सिटी से संबद्ध किया गया था, कॉलेज में देशभर से नेट-क्वॉलिफाइड टीचर्स पढ़ाते हैं। जिले में कोई अन्य डिग्री कॉलेज नहीं है। यहां से सबसे नजदीकी डिग्री कॉलेज 50 किलोमीटर दूर ऋषिकेश में है।

योगी आदित्यनाथ के भाई महेंद्र सिंह बिष्ट कॉलेज के ऐडमिनिस्ट्रेटर हैं। वह कहते है कि कॉलेज में भेदभावपूर्ण रवैये के लिए कोई जगह नहीं है।

Share