गोरखनाथ मंदिर पहुंचे प्रख्यात संत मोरारी बापू, कल से कुशीनगर होगी 854वीं रामकथा

गोरखपुर। मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम की पुण्य कथा को जन मन तक पहुंचाने वाले प्रख्‍यात कथावाचक मोरारी बापू शुक्रवार को गोरखपुर पहुंचे। मोरारी बापू ने गोरखनाथ मंदिर में पूजन एवं दिव्‍य ज्‍योति के दर्शन किए। इसके बाद मंदिर में संतो से मुलाकात की। इस दौरान बताया गया कि कल यानी 23 जनवरी से 31 जनवरी तक कुशीनगर में मोरारी बापू की 854वीं श्रीरामकथा का आयोजन होगा।

मोरारी बापू विशेष विमान से गोरखपुर पहुंचे। इसके बाद वह सीधे गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। मंदिर प्रबंधन से जुड़े द्वारिका तिवारी और अन्‍य संतों ने उनका स्‍वागत किया। मोरारी बापू ने मुख्‍य मंदिर में दर्शन किया। इसके बाद दिव्‍य ज्‍योति के दर्शन किए। गोरखनाथ मंदिर में कुछ वक्‍त गुजारने के बाद मोरारी बापू गीता वाटिका पहुंचे। उन्‍होंने वहां मंदिर, वाटिका और श्री राधा बाबा के समाधि स्‍थल का दर्शन किया।

Gyan Dairy

भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में प्रख्यात कथावाचक मोरारी बापू की श्रीरामकथा का 854वां पड़ाव है। यह कथा 23 जनवरी से 31 जनवरी तक चलेगी। मोरारी बापू के रहने के लिए होटल रायल रेजीडेंसी में कुटिया का निर्माण किया गया है। इसके साथ ही दो स्वीस कॉटेज भी बनाया जा रहा है।

Share