छात्रा से किया रेप और बनाया वीडियो, अब खुद को इन नेताओं का खास बताकर दे रहा है धमकी!

बाराबंकी : उत्तर प्रदेश में महिलाओं का उत्पीड़न और होने वाले अत्याचारों में बेतहाशा बढ़ोत्तरी हो गयी थी, जिसे बीजेपी ने यूपी चुनाव में अपना अहम मुद्दा बनाया था। विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने अपने चुनावी संकल्प पत्र में भी महिलाओं के सम्मान के मुद्दे को प्रमुखता से शामिल करते हुए, सूबे में एंटी रोमियो स्क्वॉयड बनाने की घोषणा की थी। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार जब सत्ता में आई तो उन्होंने सबसे पहले स्कूल-कॉलेजो में पढ़ने वाली छात्राओं और घर से बाहर निकलने वाली युवतियों की सुरक्षा के लिए प्रत्येक थाना स्तर पर एंटी रोमियो स्क्वॉयड का गठन करने का आदेश दिया। लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। प्रदेश में आज भी खुलेआम महिलाओं और बालिकाओं के साथ अत्याचार हो रहा है। उन्हें सरेआम बेइज्जत किया जाता है। उनके साथ छेड़छाड़ की जाती है। यहां तक कि उसके साथ बलात्कार भी किया जाता है लेकिन वह बेचारी बालिका कभी घर वालों के डर से तो कभी समाज की रुसवाई को देखकर अपनी जुबान नही खोलती हैं। कई मामलों में तो छात्राएं शोहदों के डर से कॉलेज जाना ही छोड़ देती हैं।

नशीला पदार्थ खिलाकर किया रेप

पहले किसी बहाने से मासूम छात्रा के साथ दोस्ती फिर उसके बाद धोखे से उसे नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ बलात्कार और उसके बाद लगातार उसकी इज्जत को सरेआम नीलाम करने की धमकी देकर मारपीट व टॉर्चर करने का बेहद सनसनीखेज मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में स्थित श्री रामस्वरूप यूनिवर्सिटी से सामने आया है। जिसमें बीटेक सेकेंड इयर की अध्यनरत छात्रा कल्पना (काल्पनिक नाम ) मूलतः जनपद रायबरेली की रहने वाली है और अपने माता पिता का सपना पूरा करने के लिए अपने घर से इतनी दूर इस यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में कमरा लेकर मेहनत से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी। सब कुछ वैसा ही चल रहा था जैसा कल्पना चाहती थी कि अचानक उदय चन्द्र पांडेय नाम का एक शख्स उसकी जिंदगी में आया, जिसने उसकी जिंदगी में अंधेरा भर दिया।

वीडियो और फोटो वायरल करने की दी धमकी

उदय पांडेय कल्पना की ही यूनिवर्सिटी का छात्र है। बताया जा रहा है कि उदय पांडेय के पिता गवर्नर हाऊस में एक बड़े अधिकारी के पद पर तैनात हैं और उनका अफसरशाही में काफी दबदबा भी है। अपने पिता के इसी रसूख का फायदा उठाकर बिगड़ैल साहबजादा उदय पांडेय यूनिवर्सिटी में पढ़ाई ना करके सिर्फ आवारागर्दी करता फिरता है। लोगों की इज्जत उछालना और उन्हें परेशान करना उसका रोज का काम है। ऐसे में शुरू-शुरू में नोट्स लेने के बहाने कल्पना और उदय की बातचीत शुरू हुई, जो दोस्ती में बदल गयी। लेकिन मासूम कल्पना को उदय पांडेय के खतरनाक इरादों की जरा भी भनक नहीं थी। एक दिन उदय ने कल्पना कोबहाने से काफी में नशीला पदार्थ पिलाकर राजधानी लखनऊ के चारबाग स्थित एक होटल के कमरे में ले गया। जहां उसने फिर उसकी इज्जत को तार-तार कर दिया। उदय उसके बाद से कल्पना से हमेशा होटल में चलने की जिद करता था। जिससे कल्पना ने साफ इंकार कर दिया। तब उदय ने कल्पना से कहा कि उसके पास कल्पना के साथ होटल के कमरे में बनाये गए संबंधों के अश्लील वीडियो और फोटो भी हैं। जिसे वह फेसबुक और इंटरनेट पर भेज देगा। उदय बार-बार कल्पना को धमकी देने लगा।

पिती के रसूख से नहीं हुई कोई कार्रवाई

कल्पना ने परेशान होकर उसकी शिकायत यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट से करने की धमकी भी दी। लेकिन उस पर कोई फर्क नहीं पड़ा। उदय ने कहा कि कोई मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा और फिर एक दिन उदय ने नाराज होकर यूनिवर्सिटी के कैम्पस में ही कल्पना की पिटाई भी कर दी और उसका मोबाईल लेकर कैम्पस से बाहर निकल गया। जब कल्पना ने अपना मोबाइल मांगा तो उसने कहा कि मेरे साथ चिनहट में मेरे दोस्त के फ्लैट पर चलो। वहां कुछ बात करनी है। वहीं मोबाइल दे दूंगा। फिर जब कल्पना चिनहट स्थित उदय के दोस्त के फ्लैट पर गयी तो वहां जबर्दस्ती उदय ने अपने दोस्त की मौजूदगी में एक बार फिर कल्पना के साथ बलात्कार किया। कल्पना वहां से रोती बिलखती वापस यूनिवर्सिटी आई और मैनेजमेट के जिम्मेदार लोगों से रो रोकर अपने ऊपर हुए जुल्मों की दास्तान सुनाई। मगर मैनेजमेंट ने उसकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया। क्योंकि कहीं ना कहीं वह सब भी उदय पांडेय के रसूखदार अधिकारी पिता के दबाव में थे।

Gyan Dairy

नगर कोतवाली बाराबंकी में दर्ज कराया केस

वहीं अब पानी सिर से ऊपर हो चुका था और कल्पना के ऊपर हो रहे जुल्मों की भी इंतेहा हो चुकी थी। कल्पना ने अपनी आप बीती अपने परिवार में माता पिता को बताई। जिसे सुनकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्होंने पहले तो उदय के पिता से बात करनी चाही। लेकिन उन्हें न्याय के बदले उनकी लड़की को उठा लेने, पूरे परिवार को बर्बाद कर देने व पिता की नौकरी छीन लेने की धमकियां मिलने लगीं। तब आजिज आकर कल्पना के पिता ने आरोपी उदय पांडेय के खिलाफ नगर कोतवाली बाराबंकी में रेप, मारपीट, साईबर क्राइम व छिनैती जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया। लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस आरोपी उदय की गिरफ्तारी नहीं कर पाई है। क्योंकि हर जगह उसके पिता की पहुंच सामने आ जाती है। लड़की के पिता के मुताबिक उदय के पिता उमेश चंद्र पांडे यह कहकर धमकाते हैं कि मैं गवर्नर हाउस में हूं। वहीं उदय योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी और पूर्व की अखिलेश सरकार में मंत्री अभिषेक मिश्रा के साथ फोटो भेजकर धमका रहा है और कह रहा है कि तुम लोग हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ से हो चुकी है शिकायत

कल्पना और उसके पिता ने अपने व पुत्री के ऊपर होने वाले जुल्मों की शिकायत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बाल महिला विकास मंत्री रीता बहुगुणा जोशी से खुद मिलकर की है। पीड़िता कल्पना व उसके परिजन श्री रामस्वरूप युनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार वी.के. सिंह से भी मिले और उनसे आरोपी छात्र के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। लेकिन नतीजा शून्य ही रहा। रजिस्ट्रार वी.के. सिंह पीड़िता के साथ हुई वारदात की बात तो स्वीकार कर रहे हैं और बिना किसी दबाव आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कह रहे हैं। लेकिन कुछ करते नजर नहीं आ रहे हैं। ऐसे में न्याय मिलना तो दूर, अब तो कल्पना के परिजनों को और भी धमकियां मिल रही हैं। जिसकी वजह से कल्पना का पूरा परिवार दहशत में है। कल्पना को जबर्दस्ती उठा ले जाने की धमकी की वजह से अब कल्पना भी अपने रिश्तेदारों के घर पर छुपकर रहने को मजबूर है।

आरोपी कब होगा सलाखों के पीछे

कल्पना के परिजनों ने मीडिया के सामने अपनी आप बीती सुनाकर उसे न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। लेकिन सबसे बड़ा दुर्भाग्य यह है कि महिलाओं की सुरक्षा का दावा करने वाली उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की पुलिस के जिम्मेदार आला अधिकारी इस गंभीर मामले पर बड़े-बड़े आश्वासन तो दे रहे हैं लेकिन अपने बयान को अमली जामा पहनाने के लिए कोई भी तैयार नजर नहीं आ रहा है। अब देखना होगा कि महिलाओं को उचित सम्मान व सुरक्षा और सबका साथ सबका विकास के नारे को लेकर प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली यूपी की योगी सरकार में पीड़िता कल्पना और उसके दहशतजदा परिवार को कब तक न्याय मिलता है। और कब ऊंची पहुच और रसूख वाला आरोपी जेल की सलाखों के पीछे होगा।

Share