सैयद अफजल मियाँ देश के लिए गौरव थे :सैयद मुहम्मद अशरफ किछौछवी हजरत सैयद अफजल

-हज़रत सैयद अफ़ज़ल मियाँ बरकाती मारहरवी का निधन एक बहुत बड़ी क्षति है जिसकी भरपाई काफी मुश्किल

नौतनवा महराजगंज । जामिया मिलिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व रजिस्ट्रार और एडीजी ( IPS) भोपाल मध्य प्रदेश के सैय्यद मोहम्मद अफजल मियां अज़ीम देश के लिए एक अहम शख्शियत थे। आप एक खुश अख़लाक़, जिहोश , साहिबे किरदार शख्शियत हमारे बीच से रुखसत हुई है। आप बहुत ही नेकदिल, और रहमदिल अफसर थे। इतना ऊंचा पद संभालने के बावजूद आप विनम्र स्वभाव और सहनशीलता के प्रतीक थे।

बेशक, आपका निधन न केवल जमात-ए-अहल-ए-सुन्नत बल्कि पूरे देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है।  उक्त बातें अखिल भारतीय उलेमा-ए-मशाईख बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हजरत सैयद मोहम्मद अशरफ किछौछवी साहब किबला ने अपनी ख़ानक़ाह अशरफिया किछौछा मुकद्दसा में एक समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

Gyan Dairy

हजरत ने कहा कि मरहूम अफ़ज़ल मियां देश की खिदमत के साथ-साथ  दीनी तालीम  से युवाओं का जोड़ने  का उनका लक्ष्य  निरंतर जारी था । देश की तरक्की और मज़लूमो को न्याय मिले इसलिए उन्होंने आईपीएस को चुना और समाज सेवा में जुट गए।  उन्होंने यूआओ को शिक्षित होकर ही उन मोकामा को हासिल करने का लक्ष्य बताया जिसके लिए आज का युवा सोच रखता है। दीनी तालीम के साथ साथ आज के हालात पर उनका विशेष ध्यान रहता था। निश्चित ही  हम सबको  यह कमी  सदियों तक महसूस होगी ।

हज़रत ने अंत में दुआ फ़रमाई की अल्लाह तआला आपके मकाम को और बुलन्द करे और घर परिवार और अकीदतमंदों को सब्र आता करे।

Share