अलीगढ़ में पलायन का मुद्दा गरमाया, बीजेपी सांसद और विधायक पहुंच रहे हैं नूरपुर गांव, 11 के खिलाफ FIR

अलीगढ़। यूपी के अलीगढ़ में हिंदुओं के पलायन का मुद्दा गरमाता जा रहा है। टप्पल थाना क्षेत्र के नूरपुर गांव में हिंदुओं के पलायन के मामले में पुलिस ने 11 आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं सोमवार की सुबह से ही गांव में मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ है। चर्चा है कि दोपहर बाद अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम, हाथरस से सांसद राजवीर दिलेर और खैर से विधायक अनूप प्रधान गांव आ रहे हैं।

बता दें कि टप्पल थाना क्षेत्र के गांव नूरपुर में मुसलमानों ने बरात चढ़त रोक दी थी। इससे नाराज करीब सवा सौ हिंदू परिवारों ने रविवार की सुबह अपने दरवाजों पर ‘मकान बिकाऊ है’ लिखकर सनसनी फैला दी। सोशल मीडिया पर यह फोटो वायरल होने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। इसके बाद रविवार की देर शाम गांव के एक व्यक्ति की तहरीर पर समुदाय विशेष के 11 लोगों पर रिपोर्ट दर्ज हो गई है। पुलिस के मुताबिक 26 मई की दोपहर गांव के दलित ओमप्रकाश की दो बेटियों की बरात चढ़त के साथ उनके दरवाजे पर आ रही थी। रास्ते में मस्जिद के पास कछ मुसलमान युवकों ने बरात चढ़त का विरोध करने लगे। इस भीड़ ने बरातियों और गांव के हिंदुओं पर लाठी, डंडे व राड से हमला कर दिया।

Gyan Dairy

इसमें डीजे वाली गाड़ी के शीशे टूट गए। डीजे गाड़ी के चालक समेत दो लोग घायल हो गए। उन्होंने थाने में जानकारी देने के साथ ही अगली सुबह आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी, लेकिन थाना पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि समुदाय विशेष की भीड़ ने सुनियोजित तरीके से बरात पर हमला किया था। पुलिस की कार्रवाई न होने से नाराज पीड़ित परिवार और उनके समर्थन में लोगों ने अपने दरवाजों के बाहर ‘मकान बिकाऊ है’ लिखने के साथ ही रविवार की सुबह पुलिस व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। मामला बढ़ता देख रविवार की शाम को टप्पल पुलिस ने ओमप्रकाश पुत्र तेजपाल की तहरीर पर गांव के वकील, कलुआ, मुस्तकीम, सरफू, अंसार, सोहिल, फारुख, अमजद, तौफीक, सहजोर और लहरू के नाम रिपोर्ट दर्ज कर ली थी।

Share