निलंबित आईपीएस अफसर मणिलाल पाटीदार की तलाश में छूट रहे एजेंसियों के पसीने, पांच माह से नहीं लगा सुराग

लखनऊ। महोबा के पुलिस के अधीक्षक रहे साल 2014 बैच के आईपीएस अफसर मणिलाल पाटीदार पिछले पांच महीने से फरार हैं। यूपी पुलिस ने इस आईपीएस पर 50 हजार के इनाम घोषित कर ​रखा है। मणिलाल पाटीदार की महोबा पुलिस और विजिलेंस तथा ईडी को भी तलाश है। प्रयागराज के एएसपी क्राइम के नेतृत्व में एसआईटी और एसटीएफ भी लगातार मणिलाल पाटीदार की तलाश कर रही है। इसके बाद भी उनका कहीं पता नहीं चल रहा है।

बता दें कि नौ सितंबर 2020 से निलंबित मणिलाल पाटीदार कुर्की की कार्रवाई का सामना कर रहे हैं। कुर्की की नोटिस का पुलिस ने मणिलाल पाटीदार के घर राजस्थान के डूंगरपुर जिले के सगवाड़ा थाना क्षेत्र में सरौंदा गांव में चस्पा कर दिया है। इसके बाद अब कुर्की की जाएगी।

बता दें कि निलंबित आईपीएस अफसर मणिलाल पाटीदार पर महोबा के क्रशर कारोबी इंद्रकांत त्रिपाठी से रंगदारी मांगने, उसे आत्महत्या के लिए उकसाने तथा भ्रष्टाचार से संबंधित मामलों में मुकदमे दर्ज हैं। निलंबित होने के बाद से ही वह फरार चल रहे हैं। वह जांच के लिए तत्कालीन आईजी रेंज वाराणसी विजय सिंह मीना की अध्यक्षता में गठित एसआईटी के सामने भी नहीं आए थे।

Gyan Dairy

मणिलाल पाटीदार के खिलाफ पहले हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था लेकिन एसआईटी की जांच में आत्महत्या की बात सामने आने पर उसे आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा 306 में परिवर्तित कर दिया गया था। क्रशर कारोबारी ने अपनी मौत से पहले पाटीदार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। शासन के आदेश पर विजिलेंस पाटीदार के विरुद्ध भ्रष्टाचार के आरोपों एवं आय से अधिक संपत्ति की जांच कर रही है। वहीं, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की मनी लांड्रिंग के आरोपों की जांच भी रुकी हुई है। दोनों एजेंसियों की पुलिस पर निगाह बनी हुई है।

Share