एनेक्सी भवन में मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ का औचक निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एनेक्सी स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय के पंचम तल पर पहुंचने के बाद उन्होने हर कमरे का निरीक्षण किया। योगी आदित्यनाथ के औचक निरीक्षण से एनेक्सी भवन के सभी अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

ऐसा प्रतीत हो रहा था कि महीनो से शौचालयों की ढुलाई सफाई नहीं हुई थी। पीने के पानी के वाटर कूलर और फ़िल्टर खराब पड़े थे जो सचिवालय प्रशासन विभाग के अधिकारियों की घोर लापरवाही की और इशारा कर रहा था। प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन से लेकर अनुसचिव तक इसके उत्तरदायी होते है।

निरीक्षण करते करते उन्होंने कर्मचारियो हेतु बने शौचालयों का भी निरीक्षण किया जहाँ पान की पीक और गुटका मसाला से दीवार रंगी पड़ी थी।

योगी आदित्यनाथ ने करीब घंटे  तक एनेक्सी भवन के कमरों और अनुभागों का भी निरीक्षण किया। गंदगी और पत्रवालिओ के राखरखाओ से संतुस्ट न होते हुए उन्होंने तुरंत इस दिशा में कार्यवाही का निर्देश भी अपने अधिकारियों को दिया।योगीजी ने बिजली के उलझे तारों पर हिदायत दी. गंदे वॉश बेसिन और गंदी फाइलों पर भी नाराजगी जताई।

मुख्य मंत्री आदित्य नाथ ने तत्काल प्रभाव से सभी सरकारी कार्यालयो में कर्मचारियो और अधिकारियों के पान-गुटखा खाने पर रोक लगा देने के निर्देश दिए। जाये। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू कर दिये गये।

Gyan Dairy

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ का बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में पहला दिन था जिसमे उन्होंने पूरे प्रदेश को यह सन्देश दे दिया है कि वे कही भी,कभी भी किसी कार्यालय का औचक निरीक्षण कर सकते है।

मुख्य मंत्री  योगी के इस प्रयास से कर्मचारी काफी खुश दिखे,सभी कर्मचारियों ने  एक स्वर में कहा कि कोई पहला सीएम ऐसा आया है जिसने इन बातों की सुध ली है. नहीं तो कभी विभाग के अधिकारी भी इस तरफ ध्यान नहीं देते है।

प्रशासनिक क्षमता और कार्यकुशलता की दृष्टि से मुख्य मंत्री का यह कदम महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

 

Share