उन्‍नाव केस: घटनास्थल से चिप्‍स की दुकान की ओर दौड़ा खोजी कुत्ता, पुलिस को मिली अहम लीड

उन्नाव। उत्‍तर प्रदेश के उन्‍नाव के असोहा थानान्तर्गत बबुरहा गांव में दो नाबालिग लड़कियों की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत के मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। इस मामले एक लड़की गंभीर हालत में कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती है। बताया जा रहा है कि जांच के दौरान घटनास्‍थल पर खोजी कुत्‍ता सूंघने के बाद बार-बार एक दुकान की ओर दौड़ रहा था। दावा किया जा रहा है कि लड़कियों ने घटना वाले दिन इस दुकान से कुछ चिप्‍स खरीदे थे।

बता दें कि बुधवार को उन्‍नाव के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा नाले के पास सूर्यपाल के सरसों के खेत में तीनों लड़कियां अचेत मिली थीं। पुलिस को पता चला है कि घटना वाले दिन लड़कियों ने दोपहर में घर से निकलते वक्त गांव की एक दुकान से चिप्स के पैकेट खरीदे थे। इसके बाद उन्‍होंने चिप्‍स खाया था। पुलिस ने दुकान से चिप्‍स और नमकीन के पैकेट जब्‍त कर लिए हैं। उन्‍हें प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा गया है।

नाबालिग लड़कियों की मौत मामले में पुलिस हत्‍या, आत्‍महत्‍या सहित अन्‍य कई सम्‍भावनाओं पर जांच कर रही है। पुलिस के लिए यह जानना बड़ी चुनौती है आखिर घटना वाले दिन हुआ क्‍या था? इसी मकसद से खोजी कुत्‍ते को घटनास्‍थल पर ले जाया गया तो सूंघने के बाद वह एक दुकान की ओर भागा। इसके बाद दुकान के पास स्थित एक घर में घुस गया। पता चला कि यह दुकान साबिर नाम के एक शख्‍स की है। साबिर अपनी दुकान पर रोजमर्रा के खाने-पीने की चीजें रखता है।

Gyan Dairy

जानकारी मिली कि घटना वाले दिन घर से निकलते वक्‍त लड़कियों ने उसकी दुकान से नमकीन के पैकेट खरीदे थे और खाए भी थे। इस जानकारी के बाद पुलिस ने दुकान पर रखे चिप्‍स और नमकीन के सारे पैकेट जब्‍त कर लिए। पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टरों का कहना है कि दोनों लड़कियों की मौत जहरीला पदार्थ खाने से हुई है। दोनों ने मौत से करीब 6 घंटे पहले खाना खाया था। दोनों के पेट में 100 से लेकर 80 ग्राम तक खाना मिला है। खाने में जहर होने की वजह से मौत हो गई। मृृत लड़कियों के शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है।

Share