यूपी बजट 2021-22: एक्सप्रेसवे परियोजनाओं को लगेंगे पंख, जानें योगी सरकार की तैयारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार राज्य में निर्माणाधीन पांच एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्टों में तेजी लाने की तैयारी में है। प्रदेश में विधानसभा चुनावों को सिर्फ साल भर शेष है। ऐसे में योगी आदित्यनाथ सरकार अपने चौथे बजट में एक्सप्रेस वे परियोजनाओं के लिए खास इंतजाम कर र​ही है।

दरअसल प्रदेश के औद्योगिक विकास, रोजगार व आर्थिक विकास के लिहाज से यह परियोजनाएं खासी अहम हैं। इन परियोजनाओं के लिए धन की दिक्कत न हो इसके लिए प्राथमिकता पर काम किया जा रहा है। साल की पहली छमाही में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर वाहन फर्राटा भरने लगेंगे। वहीं मेरठ से प्रयागराज तक गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण भी इसी साल शुरू होना है। इसके साथ ही गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का काम तेजी से चल रहा है। योगी सरकार पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के आगे गाजीपुर से बलिया तक एक्सप्रेसवे की नई परियोजना भी जल्द शुरू करेगी। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-21 में सरकार ने एक्सप्रेसवे व डिफेंस कारीडोर के लिए लगभग 9 हजार करोड़ रुपये का इंतजाम किया था। इसी कारण कोरोना संकट के बाद भी एक्सप्रेसवे का काम चलता रहा।

Gyan Dairy

वहीं, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे व गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए बजट में बड़ी रकम की दरकार है। गंगा एक्सप्रेसवे के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 लगभग 1855 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा रुपये का बंदोबस्त किए जाने की उम्मीद है। यह रकम एक्सप्रेसवे के लिए जमीन खरीदने में खर्च होगी। वहीं यूपीडा हालांकि 2900 करोड़ रुपये हुडको से कर्ज भी लेगा। असल में जमीन खरीदने में करीब 10 हजार करोड़ रुपये चाहिए। सरकार ने 90 प्रतिशत जमीन जून तक खरीदने का लक्ष्य रखा है। ऐसे में इस काम के लिए भारी रकम की जरूरत है। इस साल के बजट में नोएडा फिल्म सिटी के शुरुआती काम के लिए भी बंदोबस्त होगा। फिल्मसिटी के लिए डीपीआर इसी महीने आने वाली है। इसके बाद इस पर डेवलपर चयन कर आगे काम शुरू होना है।

Share