UP Budget 2021-22: किसानों, महिलाओं और युवाओं का रखा पूरा ख्याल, ये रहे खाली हाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने मौजूदा कार्यकाल का पांचवा और आखिरी पूर्ण बजट आज विधानसभा में पेश किया। योगी सरकार के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सदन में राज्य का बजट पेश किया। इस बार का बजट प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में 5,50,270 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है। योगी सरकार का बजट युवाओं, किसानों व महिलाओं पर केंद्रित है।

अपने बजट भाषण में वित्त मंत्री ने मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का ऐलान किया। लखनऊ में एयरपोर्ट के सामने नादरगंज में 40 एकड़ क्षेत्रफल में पीपीपी मॉडल पर अत्याधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी कॉम्प्लेक्स का निर्माण प्रस्तावित। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाने का भी ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह योजना का विस्तार किया जाएगा और मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना लाई जाएगी। प्रदेश के 19 जनपदों में कुल 40 छात्रावास बनाए जाएंगे।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए हुईं ये घोषणाएं
वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि प्रदेश में एक जिला- एक उत्पाद योजना के लिए 250 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही 100 करोड़ं रुपए से उत्तर प्रदेश स्टेट स्पिनिंग कंपनी की बंद पड़ी कताई मिलों की परिसंपत्तियों को पुनर्जीवित कर पीपीपी मोड में औद्योगिक पार्क/आस्थान/क्लस्टर स्थापित कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के पारंपरिक कारीगरों के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लिए 30 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था। गरीब कलाकारों को 2000 रुपये प्रतिमाह पेंशन का ऐलान।

मंडल स्तर पर बनेगा राज्य विश्वविद्यालय

वित्त मंत्री ने कहा कि मंडल में एक राज्य विश्वविद्यालय बनेगा।
26 जिलों में माडल राजकीय महाविद्यालयों के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था।
लखनऊ में बनेगा जनजातीय संग्रहालय, इसके लिए 8 करोड़ की व्यवस्था।
छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य गौरव पुरस्कार दिए जाएंगे।

रोजगार के लिए मिलेगा ब्याज रहित ऋण
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को दस लाख रुपये तक ब्याज रहित ऋण तथा सामान्य वर्ग के पुरुष लाभार्थियों को चार प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था। माटीकला की परम्परागत कला एवं कारीगरों को संरक्षित-संवर्धित करने के लिए बजट में दस करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।

Gyan Dairy

किसानों की आय दोगुनी करना लक्ष्य
योगी सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के लिए 600 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था की गई है। किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा देने के लिए 700 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था की गई है। रियायती दरों पर किसानों को फसली ऋण उपलब्ध कराने के लिए 400 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान के लिए वर्ष 2021-22 के लिए 15 हजार सोलर पंपों की स्थापना का लक्ष्य निर्धारित किया है।

एक्सप्रेस वे के लिए हुईं कई घोषणाएं
प्रदेश सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए 1107 करोड़ रुपये का एलान किया।
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 860 करोड़ रुपये का एलान किया।
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए 1492 करोड़ रुपये का एलान किया।
गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण हेतु 7200 करोड़ रुपये और निर्माण कार्य के लिए 489 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था की।

किन योजनाओं पर व्यय होगा बजट

आवास के लिए 10029 करोड़ का प्रावधान
अमृत योजना के लिए 2200 करोड़ का बजट
स्मार्ट सिटी के लिए 2000 करोड़
कान्हा गौशाला के लिए 80 करोड़
मुख्यमंत्री समग्र सम्पदा विकास के लिए 1000 करोड़
पीएम आवास ग्रामीण के लिए 7000 करोड़
राष्ट्रीय रोज़गार गारंटी के तहत 5500 करोड़
पीएम सड़क योजना के लिए 5000 करोड़ की व्यवस्था
कन्‍या सुमंगल योजना के ल‍िए 1200 करोड़
मह‍िला शक्‍त‍ि केंद्रों के ल‍िए 32 करोड़ रुपये
गांव में स्‍टेड‍ियम के ल‍िए 25 करोड़ रुपये
संस्‍कृत स्‍कूलोंं में फ्री छात्रावास की सुव‍ि‍धा
बीमा के ल‍िए 600 करोड़ की व्‍यवस्‍था
अध‍ि‍वक्‍ता चैंबर के ल‍िए 20 करोड़ रुपये
प्रदेश की नहरों के ल‍िए 700 करोड़ रुपये
ड‍िज‍िटल स्‍वास्‍थ्‍य म‍िशन के ल‍िए 32 करोड़ रुपये
पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे के ल‍िए 1107 करोड़ रुपये
न‍िर्माणाधीन मेड‍िकल कालेजों के ल‍िए 950 करोड़ रुपये
च‍ित्रकूट में पर्यटन के ल‍िए 20 करोड़ रुपये
वाराणसी में पर्यटन के ल‍िए 100 करोड़ रुपये
सीएम जन आरोग्‍य योजना के ल‍िए 142 करोड़ रुपये

 

Share