UP Budget 2021-22: पूर्वांचल और बुंदेलखंड में बहेगी विकास की बयार, जानें बजट में क्या मिला ?

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने मौजूदा कार्यकाल का पांचवा और आखिरी पूर्ण बजट आज विधानसभा में पेश किया। योगी सरकार के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सदन में राज्य का बजट पेश किया वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में 5,50,270 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है। योगी सरकार ने इस बजट में सभी वर्गों को लुभाने की कोशिश की। इसके साथ ही राज्‍य में अपेक्षाकृत पिछड़े माने जाने वाले पूर्वांचल और बुंदेलखंड के लिए खास इंतजाम किए गए हैं।

बजट में वित्‍त मंत्री ने जहां बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 1492 करोड़ रुपये दिए वहीं पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए 1107 करोड़ रुपये, गोरखपुर एक्सप्रेस-वे के लिए 750 करोड़ रुपये का प्रावधान किया। इसके साथ पूर्वांचल की विकास योजनाओं के लिए तीन सौ करोड़ का प्रावधान किया गया है। बुंदेलखंड की विशेष योजनाओं के लिए 210 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही गंगा एक्‍सप्रेस वे का भी वित्‍त मंत्री ने ऐलान किया है। इसकी जमीन के अधिग्रहण के लिए 7200 करोड़ रुपए का प्रावधान बजट में किया गया है।

इसके साथ ही जल जीवन मिशन (ग्रामीण) योजना के लिए वर्ष 2024 तक सभी घरों में पेयजल कनेक्‍शन के लिए 15 हजार करोड़ रुपए के बजट की व्‍यवस्‍था की गई है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि 2021-2022 से शहरी स्‍थानीय निकायों में घरेलू नल कनेक्‍शन के साथ सर्व सुलभ जल आपूर्ति और अमृत शहरों में तरल अपशिष्‍ट प्रबंधन की व्‍यवस्‍था की जाएगी। इस योजना के लिए दो हजार करोड़ रुपए की व्‍यवस्‍था बजट में की गई है। मुख्‍यमंत्री आरओ पेजयल योजना के लिए 22 करोड़ रुपए का प्रावधान बजट में किया गया है।

Gyan Dairy

 

Share