यूपी: 23 लाख निर्माण श्रमिकों को सीएम योगी ने दी सौगात, खाते में पहुंचे एक हजार रुपये

लखनऊ। कोरोना संकट के समय बेरोजगार हुए पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के लिए योगी सरकार सहारा बनी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज बुधवार को प्रदेश के 23.2 लाख पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के बैंक खातों में 230 करोड़ रुपये की धनराशि भेजी है। हर श्रमिक के खाते में 1000 रुपये की धनराशि भरण पोषण भत्ते के तौर पर भेजी गई है। मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी ने पांच श्रमिकों को खुद 1000 रुपये की राशि के चेक सौंपे। इसके साथ ही सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में असंगठित क्षेत्र के कामगारों के पंजीकरण के लिए पोर्टल का शुभारंभ भी किया।

इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि श्रमिकों ने अपने परिश्रम से प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में अहम भूमिका अदा की है। पिछले सवा साल से कोरोना के खिलाफ लगातार जारी जंग में श्रमिकों ने हमेशा सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इसका मुकाबला किया है। पिछले साल संक्रमण की पहली लहर के कारण घोषित लॉकडाउन की वजह से चुनौती ज्यादा थी। 40 लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिक उत्तर प्रदेश में आए थे जिनके भरण पोषण से लेकर रोजगार तक की व्यवस्था सरकार ने की।

Gyan Dairy

इस मौके पर सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में असंगठित क्षेत्र के कामगारों के पंजीकरण के लिए पोर्टल का शुभारंभ भी किया। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कुछ श्रमिकों से संवाद भी किया। इसके साथ ही दिहाड़ी पर काम करने वाले श्रमिकों की मदद के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। दिहाड़ी पर काम करने वाले श्रमिकों, पटरी और फेरी दुकानदारों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक हजार रुपये भरण-पोषण भत्ता देने का फैसला किया है।

Share