UP: बांदा जेल की 15 नम्बर बैरक में आम कैदी की तरह रहेगा डॉन, इस बार नहीं चलेगी बादशाहत

बांदा। पंजाब की रोपड़ जेल से बुधवार तड़के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी उत्‍तर प्रदेश की बांदा जेल पहुंच गए। हालांकि इस बार मुख्‍तार अंसारी बांदा जेल की बैरक नंबर-15 में आम कैदी की रहेगा। उसे राजनैतिक बंदी नहीं माना जाएगा। सूत्रों ने बताया कि पहले बांदा जेल में मुख्‍तार अंसारी की बादशाहत चलती थी। जेल में उसका दरबार लगता था। उसे मनमाकिफ सुविधाएं भी मिलती थी। हालांकि इस बार मुख्‍तार अंसारी को वही सुविधाएं मिलेंगी जो जेल में किसी आम कैदी को मिलती हैं।

बता दें कि इसके पहले बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी को 2017 में बांदा जेल भेजा गया था। उस समय भी मुख्तार का ठिकाना बैरक नंबर-15 ही थी। इस बार भी मुख्‍तार अंसारी को इसी बैरक में रखा जाएगा, फर्क बस इतना होगा कि बैरक में विशेष सुविधाएं नहीं होंगी। बैरक में एसी से लेकर जेनरेटर और फ्रिज जैसी लक्जरी सुविधाएं लेने वाला माफिया डॉन इस बार कड़ी निगरानी में रहेगा। उसकी हर करतूत सीसीटीवी कैमरे की जद में रहेगी। सूत्रों का दावा है कि मुख्‍तार अंसारी पहली बार इस कदर लाचार और बेबस हुआ है। इसके पहले उसका रसूख जेल और बाहर में ज्यादा फर्क नहीं होने देता था।

Gyan Dairy

बता दें कि बांदा जेल में कुंडा के बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैय्या ,अतीक अहमद, बसपा विधायक रहे पुरुषोत्तम नरेश द्विवेदी, नोएडा का गैंगस्टर अनिज दुजाना भी बंद रहे हैं। मुख्‍तार के आने के बाद बांदा जेल में सुरक्षा व्‍यवस्‍था और कड़ी कर दी गई है। जेल में अब जो लोग भी दाखिल किए जाएंगे, उनकी पूरी पड़ताल की जाएगी। बिना जांच-पड़ताल के जेल स्‍टॉफ को भी इंट्री नहीं दी जाएगी।

Share