यूपी: शराब माफिया से जान का खतरा बताने वाले पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत, हत्या का मुकदमा दर्ज

प्रतापगढ़। यूपी के प्रतापगढ़ जनपद में एक टीवी चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव 40 वर्ष की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है। पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव ने अपने स्वयं पर हमले की आशंका जताते हुए एडीजी प्रयागराज जोन को शिकायती पत्र भेजा था। सुलभ की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन के समीप सहोदर पश्चिम में रहने वाले एक राष्ट्रीय न्यूज चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। रविवार की रात नगर कोतवाली क्षेत्र के सुखपाल नगर में पत्रकार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की पत्नी रेणुका श्रीवास्तव का आरोप है कि उनके पति की हत्या की गई है। उन्होंने एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश से से घटना की सीबीआइ जांच कराने की मांग की। पत्रकार की मौत पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने भी योगी सरकार पर हमला बोला है।

बता दें कि प्रतापगढ के एक टीवी चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की रविवार देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। वह घायल अवस्था में रविवार की रात करीब 10 बजे नगर कोतवाली क्षेत्र के कटरा रोड पर मिले थे। राहगीरों की सूचना पर पुलिस राजकीय मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय ले आई, यहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के बाद एडीजी प्रयागराज जोन एडीजी प्रेम प्रकाश के साथ डीएम व एसपी प्रतापगढ़ उनके आवास पर पहुंचे। इन सभी ने सुलभ श्रीवास्तव पत्नी से बातचीत की।

Gyan Dairy

पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की पत्नी रेणुका ने बताया कि वह तीन दिन से काफी परेशान थे। शराब माफिया के खिलाफ खबर चलने से वह काफी बेचैन थे। लगता है कि उनको काफी धमकी मिली थी। सुलभ को अपनी और परिवार की चिंता थी। शहर में कई लोगों से सुलभ को खतरा था। इसको लेकर उन्होंने एडीजी जोन प्रेम प्रकाश के पास शिकायत भी की थी। सुलभ ने अपनी सुरक्षा की भी मांग की थी। उनके ऊपर बाहर नजर रखी जा रही थी। लगातार कुछ लोग सुलभ का पीछा करते थे। रेणुका ने कहा कि मेरे तो दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, अब हम क्या करेंगे। पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में प्रतापगढ़ के सांसद भाजपा के संगम लाल गुप्ता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

Share