यूपी: दारोगा ने चेकिंग के बहाने धमकाकर लिया युवती का नम्बर, भेजा रहा अश्लील मैसेज

बस्ती। उत्‍तर प्रदेश पुलिस की करतूतें आए दिन योगी सरकार के लिए सिरदर्द बन रही हैं। अब बस्ती जिले में एक दारोगा की करतूतों से महकमा शर्मसार हो रहा है। दारोगा ने लॉकडाउन में चेकिंग के बहाने एक लड़की को सड़क पर रोक लिया था। युवती ने मास्‍क न​हीं पहन रखा था। लिहाजा दारोगा ने धमकाकर उसका मोबाइल नंबर ले लिया। इसके बाद वह आए दिन युवती को फोन करने लगा। फोन न उठाने पर वह युवती को मैसेज करने लगा।

जब दारोगा की हरकतें बर्दास्त के बाहर हो गईं तो युवती ने एतराज कर दिया। इसके बाद दारोगा ने युवती के परिजनों को फर्जी मुकदमों में फंसाने की साजिश रचनी शुरू कर दी। युवती ने सारे सबूतों के साथ पुलिस अफसरों से शिकायत की। शिकायत पर दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया गया। पुलिस ने दारोगा के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं की तो युवती ने महिला आयोग से शिकायत की। महिला आयोग के निर्देश पर दारोगा को सस्‍पेंड करके मामले पर जांच बिठा दी गई है। हालांकि पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारियों का कहना है कि दारोगा ने लड़की को फोन करके और गांव में विवाद की सूचना मिलने पर बिना फोर्स अकेले जाने की गलती जरूर की लेकिन लड़की के परिवार के खिलाफ दर्ज मुकदमे बिल्‍कुल सही हैं।

उधर, लड़की का आरोप है कि दारोगा उससे फोन पर गंदी बातें करता था। मैसेज भी भेजता था। लड़की ने आईजी से इस मामले की शिकायत करते हुए अपने परिवार की रक्षा की गुहार लगाई है। लड़की के मुताबिक इस सिलसिले की शुरुआत लॉकडाउन के दौरान हुई थी। वह बुआ के लड़के के साथ बाइक से दवा लेने जा रही थी। इसी दौरान कोतवाली क्षेत्र के सोनूपार पुलिस चोकी इंचार्ज दीपक सिंह ने चेकिंग के नाम पर बाइक रोकी। दोनों से पूछताछ की। मास्‍क न पहनने पर फटकार लगाई और लड़की से उसका मोबाइल नंबर मांगा। लड़की ने भाई का मोबाइल नंबर दे दिया तो चौकी इंचार्ज ने जोर देकर उसका मोबाइल नंबर मांगा।

Gyan Dairy

लड़की का आरोप है कि नंबर ब्‍लॉक करने के बाद दारोगा ने गांव में विपक्षियों के साथ मिलकर उसके परिवार के खिलाफ चार-चार मुकदमे दर्ज कर दिए। आरोपित दारोगा दीपक सिंह ने बताया कि पूरा परिवार आपराधिक पृष्‍ठभूमि का है। मेरा प्रोफाइल फोटो मेरे नाम से किसी और मोबाइल फोन में सेव करके मेरी ओर से फर्जी मैसेज किए गए। मेरे नंबर से कोई कॉल नहीं की गई है। दरअसल लड़की के भाइयों के खिलाफ दर्ज मुकदमों में मेरे खिलाफ पेशबंदी की जा रही है।

Share