यूपी: रायबरेली पुलिस का दावा, मुनव्वर राना के बेटे तबरेज ने कराया था खुद पर हमला, जानें साजिश की वजह

रायबरेली। यूपी के रायबरेली में बीते सोमवार को मशहूर शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राणा पर गोली किसी ने नहीं चलवाई थी। सम्पत्ति विवाद के चलते परिवार के लोगों को फंसाने की साजिश के तहत तबरेज ने खुद पर हमला करवाया था। पुलिस ने रायबरेली में रहने वाले तबरेज राना के दो दोस्तों और हमला करने वाले दो शूटरों को भी गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही तबरेज की धरपकड़ के लिए लखनऊ और रायबरेली में दबिस दी जा रही है।

पुलिस के मुताबिक मुनव्वर राणा के बेटे तबरेज ने रायबरेली में 18 बिस्वा विवादित जमीन बेची थी। इसमें उसके चाचा ने दाखिल खारिज रोक दी थी। इस मामले में परिवार के लोग ज्यादा अड़ंगेबाजी न करें इसलिए तबरेज ने यह साजिश रची। बीते सोमवार की शाम करीब छह बजे मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राना पर लखनऊ-प्रयागराज हाईवे पर त्रिपुला चौराहे के निकट जानलेवा हमला हुआ था। बाइक सवार दो शूटरों ने उसकी कार पर दो बार फायर किया था। इसके जवाब में तबरेज ने भी लाइसेंसी रिवाल्वर से गोलियां चलाईं, लेकिन हमलावर भाग निकले थे। एसपी रायबरेली श्लोक कुमार ने बताया कि तबरेज राना ने रायबरेली में बीते सोमवार को अपने ऊपर हमला करवाया था। तबरेज के दोस्तों अलीम तथा सुल्तान ने तबरेज के ऊपर हमला करने के लिए सत्येन्द्र तथा शुभम को पैसे दिए थे।

रायबरेली में सोमवार शाम कथित हमले की घटना वहां लगे सीसीटीवी में कैद हुई है। जिससे पता चल रहा है कि कैसे मुनव्वर राना का बेटा तबरेज राना रायबरेली के पेट्रोल पंप पर पहुंचता है। वह अपनी गाड़ी पेट्रोल पंप के बाहर ही खड़ी कर देता है। इस दौरान वह गाड़ी में ही बैठा रहता है। कुछ देर बाद बाइक पर दो लोग पहुंचते हैं। वह गाड़ी का मुआयना कर गाड़ी में उस स्थान पर फायरिंग करते हैं, जहां पर तबरेज नहीं बैठा है। तबरेज गाड़ी की ड्राइविंग सीट पर था। गाड़ी पर फायर करने के बाद बाइक सवार भाग जाते हैं। इसके बाद आराम से तबरेज गाड़ी से बाहर निकलता है। तबरेज ने मामले में चाचा राफे राना, इस्माइल राना, शकील राना, जमील राना और चचेरे भाई यासिर राना पर हमला कराने का संदेह जताते हुए एफआइआर दर्ज कराई थी।

Gyan Dairy

तबरेज ने बेच दी चाचा की जमीन
आरोपित राफे राना ने बताया कि राजघाट पर उनके परिवार की साढ़े आठ बीघा जमीन है। इसमें चार बीघा उनकी और उनके भाई इस्माइल की है। साढ़े चार बीघा में छह भाइयों का हिस्सा है। पिता की मृत्यु के बाद गलत वरासत हो गई और पूरी साढ़े आठ बीघा जमीन छह भाइयों के नाम चढ़ गई। इसका वाद न्यायालय में विचाराधीन है। बकौल राफे फरवरी 2021 में तबरेज राना ने हमारे हिस्से की जमीन में से 18 बिस्वा बेच दी। ये बात जब पता चली तो निबंधन कार्यालय में आपत्ति करके दाखिल खारिज रोकवा दी। हमले की घटना से कोई सरोकार नहीं है। एसपी रायबरेली श्लोक कुमार ने बताया कि वारदात में शामिल चार युवक गिरफ्तार किए गए हैं। तबरेज ने झूठा केस दर्ज कराया, उनकी भी गिरफ्तारी होगी।

विधानसभा चुनाव लड़ना चाहता था तबरेज
तबरेज ने अपने चाचाओं की हिस्से की जमीन बेचने के बाद उनको ही फंसाने की साजिश रची। अपने ऊपर हमला करवाकर वह शोरहत बटोरना चाहता था। उसकी योजना तिलोई से विधानसभा चुनाव भी लड़ने की थी। इनको भरोसा था कि चाचाओं के खिलाफ केस दर्ज कराकर इनको मीडिया कवरेज के साथ ही सुरक्षा भी मिल जाएगी। एसपी ने बताया कि बाइक के साथ उस पिस्टल को भी बरामद कर लिया गया है, जिससे कथित फायरिंग की गई थी। अब पुलिस की कई टीमें तबरेज को गिरफ्तार करने के भेजी गई हैं। उसके लखनऊ के साथ ही कोलकाता तथा अन्य ठिकानों पर तलाश की जा रही है। शायर मुनव्वर के परिवार ने सगे भाइयों को फंसाने के साथ ही संपत्ति हड़पने की बड़ी साजिश की।

Share