यूपी: लव अफेयर में जेल की सजा काट चुका युवक किशोरी को फिर ले भागा, परीवारीजनों ने पुलिस और चिकित्सक पर लगाये गंभीर आरोप

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के भदोही में ज्ञानपुर रोड निवासी युवक जिस किशोरी को भगा ले जाने के आरोप में जेल में सजा काट चुका थाख, अब जेल से रिहा होने के बाद फिर से किशोरी को भगा ले गया। घटना से नाराज परीवारीजनों ने भदोही पुलिस पर किशोरी की उम्र में चिकित्सक से मिलीभगत कर हेरफेर करने का भी आरोप लगाया है।

दरअसल मामला गोपीगंज थानाक्षेत्र के एक गांव का है। नगर के ज्ञानपुर रोड निवासी आरोपी शाहिद दूसरे धर्म की लड़की को बहला फुसलाकर दोबारा भगा ले गया। किशोरी के परीवारीजनों की आपत्ती के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज तो कर लिया, लेकिन पाक्सो एक्ट की धाराएं नहीं लगाई गईं। लड़की के परीवारीजनों ने भदोही पुलिस और सोनभद्र में मेडिकल करने वाले चिकित्सक पर गंभीर आरोप लगाते हुऐ कहा किे, दोनों की मिलीभगत से उसकी बेटी को बालिग करार किया गया जबकि उनकी लड़की के आधार कार्ड और विद्यालय के रिकार्ड में भी उसकी उम्र महज 15 साल दर्ज है।

पिता की तहरीर पर 12 नवंबर को गोपीगंज के ज्ञानपुर रोड निवासी आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया गया, जो अपने ननिहाल में रहता है। लेकिन, अभी तक उक्त मामले में आरोपी की गिरफ्तारी और नाबालिग की बरामदगी नहीं हुई है। वहीं किशोरी के पिता ने बताया कि व​ह थाने से लेकर चौकी का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन चौकी इंचार्ज के छुट्टी पर जाने और वापस लौटने के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया जा रहा है।

Gyan Dairy

परीवारीजनों ने बताया कि इससे पहले भी मार्च 2020 में भी किशोरी को भगाने के आरोप में पुलिस द्वरा युवक को जेल भेजा गया था। उस समय भी पाक्सो एक्ट नहीं लगाया गया था। पिता ने कहा कि बेटी का आधार कार्ड और विद्यालय के हिसाब से जन्मतिथि सात दिसंबर 2005 है, जिसको पुलिस सिरे से नकार रही है। उन्होंने जनपद के वरिष्ठ अधिकारियों से उक्त संवेदनशील मामले में समुचित कार्रवाई की मांग की है। मां-बाप और स्कूल के मुताबिक लड़की की उम्र भले 15 साल के आसपास है लेकिन रेडियोलॉजिस्ट की जांच में लड़की की उम्र 18 से 20 वर्ष के बीच आंकी गई है।

Share