उत्तर प्रदेश: अडानी समूह को हैंडओवर हुआ अमौसी एयरपोर्ट, जानें खास बातें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का अमौसी एयरपोर्ट आज यानी सोमवार से अडानी ग्रुप के नियंत्रण में आ गया है। एयरपोर्ट प्रशासन ने अडानी ग्रुप को हैंडओवर कर दिया गया है। अमौसी एयरपोर्ट के निदेशक एके शर्मा ने अडानी ग्रुप के सीईओ के साथ करार की प्रक्रिया पूरी की।

तय करार के मुताबिक शुरुआती तीन साल तक अडानी समूह के अधिकारी एयरपोर्ट प्रशासन के साथ काम करेंगे जिसमें एयरपोर्ट निदेशक को छोड़कर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के 124 एक्जीक्यूटिव और नॉन एक्जीक्यूटिव अधिकारी व कर्मचारी पहले की तरह ही काम करते रहेंगे। हालांकि निर्देशन अडाणी ग्रुप के अधिकारियों का रहेगा।

बता दें यह एक तरह से संयुक्त प्रबंधन का समझौता है, जो एक साल तक चलेगा। इसके बाद दो साल के लिए यही कर्मचारी डीम्ड डेपुटेशन पर अडाणी ग्रुप के लिए काम करेंगे। बताया जाता है कि इस एयरपोर्ट पर किसी भी सुविधा का शुल्क अभी नहीं बढ़ाया जाना है। एयरपोर्ट पर सुविधाओं के विस्तार की योजना है। जानकारी के मुताबिक लखनऊ एयरपोर्ट पर दिल्ली की तर्ज पर मुफ्त पिक और ड्रॉप सेवा भी उपलब्ध कराई जा सकती है।

Gyan Dairy

एयरपोर्ट पर आठ नए एप्रन बनाने का कार्य शुरू हो गया है। विमान रनवे पर उतरने के बाद टैक्सी वे से होता हुआ एप्रन पर रुकता है। अभी तक एयरपोर्ट पर 14 एप्रन हैं। अब इनकी संख्या दो से तीन महीनों में बढ़ाकर 22 कर दी जाएगी। यानी एक समय में 22 विमान एप्रन पर रुक सकेंगे।

इसका सीधा लाभ आने वाले समय में यात्रियों को मिलेगा। एक तरफ रात में रुकने के लिए विमानों को जगह मिल जाएगी। इससे कुछ स्थानों के लिए सुबह सीधी उड़ान मिलेगी। साथ ही एयरपोर्ट से अधिक उड़ानों का परिचालन संभव हो सकेगा।

Share