उत्तर प्रदेश: देवर-भाभी ने फांसी लगाकर दे दी जान, जानें हैरान करने वाली वजह

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के बाभनपुरवा गांव में सोमवार की रात सगे देवर भाभी ने एक ही साड़ी के फंदा बनाकर फांसी लगा ली। सुबह बच्ची के चीखने की आवाज पर परिजन कमरे में पहुंचे तो दोनों के शव लटके हुए थे। पुलिस का कहना है कि प्राथमिक जांच में मामला प्रेम प्रसंग का प्रतीत हो रहा है।

पुलिस के मुताबिक फतेहपुर के गाजीपुर थाने के बाभनपुरवा गांव निवासी शिवबरन का बड़ा बेटा हरीराम पेशे से पोकलैंड चलाता है। उसकी पत्नी सुनीता देवी दो बच्चों के साथ घर पर रहती थी। सोमवार शाम शिवबरन और उसका छोटा बेटा राममिलन एक शादी समारोह से लौटे थे। सुनीता तीन वर्षीय बेटी के साथ ऊपर कमरे में सो रही थी। सुबह बच्ची के रोने की आवाज सुनकर शिवबरन ऊपर पहुंचे तो कमरा अंदर से बंद था।

Gyan Dairy

उन्होंने खिड़की से झांककर देखा तो राममिलन और सुनीता के शव साड़ी के फंदे से लटक रहे थे। परिजनों ने पुलिस को सूचना देतेकर कोठरी का दरवाजा तोड़ा गया। जब तक दोनों को नीचे उतारा जाता, उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस के अनुसार प्राथमिक जांच में देवर भाभी के बीच प्रेम प्रसंग की बात सामने आई है। ग्रामीणों का कहना है कि देवर राममिलन की शादी की बात चल रही थी जिसके लिए भाभी सुनीता तैयार नहीं थी। माना जा रहा है कि इसीलिए दोनों ने खुदकुशी कर ली।

Share