उत्तर प्रदेशः पशुधन घोटाले के आरोपी आईपीएस अरविंद सेन किया सरेंडर, जानें पूरा मामला

लखनऊ। यूपी के बहुचर्चित पशुधन घोटाले के आरोपी आईपीएस अफसर अरविंद सेन ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है। अभी हाल ही में हाईकोर्ट ने अरविंद सेन की अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी थी। कोई और रास्ता न देख आईपीएस अरविंद सेन ने बुधवार सुबह लखनऊ की पीसी थर्ड कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया।

हजरतगंज थाने में दर्ज पशुधन विभाग में करोड़ों रुपए के ठेके दिलाने के नाम पर ठगी के मुकदमे में आईपीएस अरविंद सेन यादव आरोपी हैं। इस मामले में उनको निलंबित कर दिया गया था। उनकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था। अरविंद सेन काफी दिनों से फरार चल रहे थे। पुलिस ने लखनऊ और उनके पैतृक आवास मिल्कीपुर अयोध्या में डुगडुगी पिटवा कर उन्हें फरार घोषित कर दिया था। गिरफ्तारी के डर से उन्होंने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी जिसे सोमवार को खारिज कर दिया गया।

पशुपालन विभाग में आपूर्ति के नाम पर इंदौर के व्यापारी से करोड़ों रुपये हड़पने के आरोपियों को बचाने के लिए 35 लाख रुपये लेने के आरोप हैं। भ्रष्टाचार निवारण के विशेष न्यायाधीश संदीप गुप्ता ने कहा था कि सेन लगातार फरार चल रहे हैं और पुलिस की पकड़ से दूर हैं। लिहाजा उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाए। इससे पहले अरविंद सेन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने की मांग वाली अर्जी दी गई थी।

Gyan Dairy

 

Share