उत्तर प्रदेश: मेरठ ट्रैफिक पुलिस की क्रेन ने CA को कार सहित उठाया, वीडियो वायरल

नई दिल्ली। यूपी के मेरठ में बीमार पत्नी को डॉक्टर के पास दिखाने आए चार्टड अकाउंटेंट की कार को ट्रैफिक पुलिस की क्रेन ने उठा लिया। खास बात ये है कि जब पुलिस ने कार उठाई उस समय कार में सीए बैठे थे। कार में बैठे सीए चीखते रहे लेकिन पुलिसवालों ने उनकी एक नहीं सुनी। ट्रैफिक पुलिस जबरदस्ती क्रेन से कार खींचते हुए पुलिस लाइन ले गई।

जानकारी के मुताबिक चाणक्यपुरी निवासी विक्रांत त्यागी बहुजन समाज पार्टी के नेता हैं और पेशे से चार्टड अकाउंटेंट हैं। विक्रांत ने बताया कि उनकी पत्नी नेहा त्यागी बीमार हैं। बीते काफी दिनों से वो बीमार वो बीमार हैं। लिहाजा विक्रांत बुधवार को नेहा को लेकर कचहरी पुल स्थित डॉ. कानन त्यागी के यहां गए थे। वहां से वह नेहा को लेकर बच्चा पार्क स्थित पैथालॉजी लैब गए। विक्रांत ने बताया कि उन्होंने अपनी कार मेट्रो हॉस्पिटल के बाहर खड़ी कर दी और खुद अंदर बैठे रहे।


विक्रांत के अनुसार इतने में ट्रैफिक पुलिस की क्रेन आई और नो पार्किंग में बताकर उनकी कार उठा ली। विक्रांत ने कार के अंदर से ही शोर भी मचाया लेकिन पुलिस ने उनकी एक नहीं सुनी। क्रेन कार को उठाकर पुलिस लाइन ले आई। इस बीच विक्रांत ने मोबाइल से पूरे घटनाक्रम की वीडियो बना ली। पुलिस लाइन आकर उन्होंने हंगामा कर दिया। मौके पर ट्रैफिक इंस्पेक्टर आ गए। उन्होंने समझा-बुझाकर मामला शांत किया और बिना चालान काटे विक्रांत को भेज दिया। शाम को सोशल मीडिया में जब यह वीडियो वायरल हुई तो मामला सामने आया। वहीं नियम है कि यदि कार में कोई शख्स बैठा है तो ट्रैफिक पुलिस की क्रेन उसे नहीं उठाएगी। ऐसे व्यक्ति की कार का नो पार्किंग में होने पर चालान काट दिया जाएगा। क्रेन को सिर्फ उन्हीं गाड़ियों को उठाने का आदेश है जो रास्ता बाधित कर रही हों।

Share