​विकास दुबे केस: शहीद CO और SP के बीच बातचीत का ऑडियो वायरल, SSP पर लगे सनसनीखेज आरोप

कानपुर। विकास दुबे कांड में एक और ऑडियो वायरल हो रहा है। यह ऑडियो शहीद सीओ (CO) देवेंद्र मिश्र और एसपी ग्रामीण के बीच हुई बातचीत का है। इस ऑडियो में सीओ ने पहले आशंका जताई थी कि एसओ ने दबिश की जानकारी विकास तक पहुंचा दी होगी। इसके साथ ही इसमें यह भी आरोप लगाए गए हैं कि पूर्व एसएसपी को एसओ ने पांच लाख रुपए दिए थे। हालांकि वायरल हो रहे ऑडियो की हमारी संस्था पुष्टि नहीं करती है। इसके अलावा सीओ की पूर्व एसओ विनय तिवारी के बीच बातचीत की दो ऑडियो क्लिप और वायरल हो हुई है।

इसके साथ ही शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्र और एसपी ग्रामीण के बीच की बातचीत के वायरल ऑडियो में सीओ कह रहे हैं कि वादी राहुल तिवारी और आरोपित विकास दुबे का गांव आसपास ही है। दोनों एक ही गांव के हैं, समझ लीजिए। इस पर बातचीत के दौरान एसपी ग्रामीण कहते हैं कि गांव में फोर्स लगाने की जरूरत पड़ेगी। सीओ उन्हें बता रहे हैं कि एसओ विनय तिवारी ने कहा है कि बगैर आपके (सीओ) दबिश देने नहीं जाएगा। सीओ एसपी को बताते हैं कि एसओ विनय तिवारी विकास दुबे के पैर छूता है।

एसपी ने कहा ऐसा है। तब सीओ ने कहा कि एसओ कहता है कि अपराधी ही अपराधी की सूचना देता है साहब। इसके बाद सीओ ने यह भी कहा कि साहब इसकी यही हरकते थाने में दो चार को मरवा देगी। वायरल ऑडियो के मुताबिक सीओ ने फोन पर एसपी ग्रामीण को यह भी बताया कि पहले वाले कप्तान साहब ने सिर पर ज्यादा हाथ रख दिया तो एसओ के तो उसकी जुबान खुल गई थी। एसपी ग्रामीण ने कहा कि हां रिपोर्ट जो दी गई थी उसमें भी मुक्त कर दिया गया था उसे।

Gyan Dairy

वायरल ऑडियो के मुताबिक सीओ ने एसपी ग्रामीण को बताया था कि एसओ विनय तिवारी 1.5 लाख रुपए लेकर जुआ खिलवा रहा था। उसे लिखापढ़ी में भी चेतावनी दी गई थी मगर वह माना नहीं। बाहर की फोर्स लेकर मैंने खुद छापेमारी की। सीओ आरोप लगा रहे हैं कि जब पूर्व कप्तान तिवारी जी को बताया तो उन्होंने कहा अभी रिपोर्ट दो मैं कार्रवाई करता हूं। एसओ ने जुआरियों से पांच लाख रुपए लिए और पूर्व कप्तान को ले जाकर दे दिए।

 

Share