कुरान से 26 आयतें हटाने की मांग करके मुस्लिम समाज के निशाने पर आये वसीम रिजवी, सिर पर 11 लाख का इनाम

लखनऊ। शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्लाम की धार्मिक किताब कुरान शरीफ की 26 आयतों को हटाने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। वसीम रिजवी ने इन आयतों को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली बताई है। वसीम रिजवी ने दावा किया है कि ये 26 आयतें कथित तौर पर बाद में कुरान शरीफ में जोड़ी गई हैं। वसीम रिजवी की याचिका से मुस्लिम समुदायक भड़क गया है। मुरादाबाद में एक कार्यक्रम में अमीरुल हसन ने वसीम रिजवी का सिर काटककर लाने वाले को 11 लाख रुपए का इनाम देने का ऐलान किया है।

बता दें कि इसके पहले शियाने हैदर-ए कर्रार वेलफेयर एसोसिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हसनैन जाफरी डंपी ने कुछ ऐसा ही ऐलान किया था। हसनैन जाफरी डंपी ने कहा था कि वह वसीम रिजवी के कृत्य की निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग वसीम रिजवी को अपने घर कार्यक्रमों में बुलाएंगे, उन लोगों का भी बहिष्‍कार किया जाएगा।

Gyan Dairy

वहीं मौलाना खालिद रशीद ने भी यूपी सरकार से रिजवी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। इसके साथ ही मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि वसीम रिजवी यजीद का वंशज है। शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि कुरान से एक हर्फ भी नहीं हटाया जा सकता है। मौलाना सैफ अब्बास और मौलाना सुफियान निजामी ने भी वसीम रिजवी की कड़ी आलोचना की।

Share