जब अधिकारी का बेटा लूट के मामले में दोस्त संग हुआ गिरफ्तार

लखनऊ। अमूमन लूट, डकैती, चोरी के मामलों में निम्न श्रेणी के परिवारों से आने वाले आरोपी ही पकड़े जाते हैं लेकिन जब कोई आरोपी किसी अधिकारी का बेटा हो तो वो हैरान करने वाली बात होती है। लखनऊ पुलिस ने एक लूट का खुलासा किया है जिसमें लूट का आरोप एक एडीएम का बेटा निकला है, पुलिस का दावा है कि ये पहले भी जेल जा चुका है।

कुछ दिनो पहले लखनऊ के केजीएमयू के डॉक्टर के साथ राजधानी के सुशांत गोल्फ सिटी थाना क्षेत्र में गोली मारकर कार लूट की वारदात सामने आयी थी। तभी से पुलिस को लुटरों की तलाश थी, आखिरकार शनिवार रात पुलिस ने आरोपियों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया है। डॉक्टर से लूटपाट करने वालों में एडीएम नरेंद्र सिंह का बेटा भी शामिल है। इसका नाम यशार्थ उर्फ यश है। पुलिस के मुताबिक यशार्थ ने अपने एक साथी के साथ मिलकर डॉक्टर के साथ लूट-पाट की घटना को अंजाम दिया।

Gyan Dairy

यशार्थ इससे पहले भी हत्या और लूट-पाट के मामले में जेल जा चुका है। यशार्थ उर्फ यश ठाकुर, गाजीपुर थानक्षेत्र का शातिर लुटेरा है। इससे पहले यशार्थ, गाजीपुर से लग्जरी कार लूटने और हत्या की वारदात में जेल की सजा भी काट चुका है। लखनऊ की पुलिस ने यशार्थ और उसके साथी आयुष को गोल्फ सिटी इलाके में हुई केजीएमयू के डॉक्टर से लूटपाट के मामल में गिरफ्तार किया है।

Share