उत्तर प्रदेश : मैनपुरी में सुरक्षा पाने के लिए पुलिस की शरण में पहुंची महिला की स्टेशन में ही गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश में पिछले महीने हुए सत्ता परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में पुलिस और प्रशासनिक व्यवस्था में सुधार की कवायद बेहद तेज़ हो गई है, लेकिन इसके बावजूद अपराधियों के हौसले कम नहीं हुए हैं. सोमवार रात को राज्य के मैनपुरी इलाके में सुरक्षा हासिल करने के लिए पुलिस की शरण में पहुंची एक महिला की पुलिस स्टेशन के भीतर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई.

मिली जानकारी के मुताबिक, विवादित ज़मीन पुलिस थाने के पास ही है, और काफी व्यस्त बाज़ार में स्थित है. सोमवार देर रात को विवाद में शामिल दो परिवारों के बीच सड़क पर झगड़ा हो गया, और एक गुट की एक महिला कथित रूप से सुरक्षा हासिल करने की खातिर पुलिस स्टेशन में घुस गई, क्योंकि दूसरे गुट का एक शख्स उसके पीछे पिस्तौल लेकर आ रहा था.

बताया जाता है कि इस महिला के परिवार का कथित रूप से ज़मीन-जायदाद को लेकर किसी अन्य परिवार से झगड़ा हो रहा था, जो महिला के पीछे-पीछे मैनपुरी पुलिस स्टेशन आया, और उसे गोली मार दी. इसके बाद उस व्यक्ति ने भागने की कोशिश की, लेकिन तब तक थाने में जमा हो चुकी भीड़ ने उसे पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस ने इस मामले में कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया है.

Gyan Dairy

बताया गया है कि पुलिस स्टेशन के भीतर इसके बाद भीड़ घुस गई, और पुलिस वाले कम पड़ गए, जो उस शख्स को बेहद करीब से महिला पर गोली चलाने से नहीं रोक पाए.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 250 किलोमीटर दूर बसा मैनपुरी समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का इलाका कहलाता है, और हालिया चुनाव में उन्हीं की पार्टी की हार के बाद बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री नियुक्त किया था. मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल की शुरुआत में ही राज्य के पुलिस प्रमुख को पुलिस व्यवस्था को बेहतर करने के लिए योजना बनाने का आदेश दिया था.

Share