महिला आशा ज्योति हेल्प लाइन के कर्मचारियों एक साल से नहीं मिला वेतन

लखनऊ। महिला आशा ज्योति हेल्प लाइन/181 प्रोजेक्ट का मार्च 2019 से फरवरी 2020 तक का भुगतान न किए जाने से परेशान थर्ड पार्टी वेण्डर अर्चिता टूर्स एंड ट्रेवल्स, ओम साईं एसोसिएटस, फ्लाई वे इंटरप्राइजेस व वी सिक्योर फैसिलिटीज के संयोजक व अर्चिता टूर्स एण्ड ट्रेवल्स के निदेशक विजय कुमार मिश्रा ने कहा कि शासन की ओर से महिला कल्याण व बाल विकास उप्र को पैसा ​रिलीज किया जा चुका है। बावजूद इसके डायरेक्टर मनोज कुमार राय पैसा रिलीज नहीं कर रहे हैं। जिसकी वजह से दो सौ परिवार सड़क पर आ गए हैं। यह बात उन्होंने प्रेस क्लब लखनऊ में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

संयोजक विजय कुमार मिश्रा ने कहा कि सैकड़ो की संख्या में चालक,परिचालक व कर्मचारी परेशान है। हालात इतने बुरे हो गए है कि यदि आगामी 20 सितम्बर तक करीब 7 करोड़ रिलीज नहीं किया गया तो मजबूरन जवाहर भवन महिला कल्याण व बाल विकास उप्र कार्यालय के पास धरना देंगे। उन्होंने कहा कि महिला कल्याण व बाल विकास उप्र के डायरेक्टर की वजह से सभी की हालात खराब हो गई। समय रहते भुगतान भी नहीं दिया गया और बीते 11 फरवरी 2020 को 181 प्रोजेक्ट को बंद भी कर दिया।

Gyan Dairy

प्रोजेक्ट बंद करने के सात माह बाद भी भुगतान नहीं दिया जा रहा है। भुगतान न मिलने की वजह से ही उन्नाव निवासी महिला कर्मचारी आयुषी आत्मदाह भी कर चुकी है। बावजूद इसके विभाग के डायरेक्टर मनोज कुमार राय भुगतान देने के बजाय टाल मटोल करते हैं। वह कर्मचारियों से सीेधे मुंह बात भी नहीं करते। उन्होंने आरोप भी लगाया कि आखिर भुगतान जब तक जीवीके ईएमआरआई को नहीं किया जाएगा तब तक उनकी संस्थाओं को भुगतान नहीं होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, जिलाधिकारी लखनऊ, प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास , निदेशक महिला कल्याण विभाग जवाहर भवन, प्रबंधक जीवेके ईएम आईआई पुलिस कमिश्नर लखनऊ, एलआईयू को ज्ञापन भी भेज दिया है। प्रेसवार्ता के दौरान ओम साईं एसोसिएटस के निदेशक अनुराग शर्मा, फ्लाई वे इंटर प्राइजेस के शमसी, बी सिक्योर के रंजीत मिश्रा मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share