फर्जी दस्तावेजों के सहारे नौकरी कर रहे 150 शिक्षकों को योगी सरकार ने किया निलंबित, जाने पूरा मामला

प्रयागराज। यूपी के प्रयागराज में बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में लगभग 150 शिक्षकों को पिछले चार साल में बर्खास्त किया गया हैं। जिनमें से कुछ ऐसे भी शिक्षक थे, जो लंबे समय से अनुपस्थित थे और नोटिस के बावजूद भी अपना पक्ष रखने नहीं आए। वहीं बहुत से ऐसे शिक्षक भी थे,जिन्होंने फर्जी प्रमाणपत्र के सहारे नौकरी प्राप्त की थी। इन फर्जी शिक्षकों ने जिन संस्थाओं के प्रमाणपत्र लगाए थे, वहां की सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर इन्हें निलंबित किया गया है। और इनके खिलाफ उचित कार्रवाई भी की गई है।

61 फर्जी शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर कराने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा ने 28 अप्रैल 2019 को खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिया था। लंबे समय से अनुपस्थित रहने के कारण अक्तूबर 2020 में 9 शिक्षकों को सेवामुक्त किया गया था। दो पैन कार्ड के आधार पर नौकरी कर रही पूर्व माध्यमिक विद्यालय ओनौर उरुवा की सहायक अध्यापिका रमा सिंह 23 सितंबर 2020 को बर्खास्त की गई थीं। योगी सरकार ऐसे फर्जी शिक्षकों को निलंबित कर इनके खिलाफ उचित कार्यवाही करने का निर्णय लिया है।

Gyan Dairy
Share