लव जिहाद व जबरन धर्मांतरण पर सख्त कानून लाएगी योगी सरकार,दस साल की होगी सजा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जबरन धर्मांतरण व लव जिहाद के बढ़ते मामलों को रोकने के उद्देश्य से सीएम योगी आदित्यनाथ ने आरोपितों को कड़ा दंड देने की घोषणा करते हुए,
जल्द ही इसपर उप्र विधि विरुद्ध धर्मांतरण प्रतिषेध अध्यादेश-2020 लाने की तैयारी में लगा हुआ है। लव जिहाद के मामले में पांच वर्ष तथा सामूहिक धर्मांतरण में 10 वर्ष की सजा का प्रावधान होगा। साथ ही यह गैरजमानती होगा।
मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने आपराधिक मानसिकता से जबरन धर्मांतरण के मामलों को रोकने के उद्देश्य से लव-जिहाद को लेकर अध्यादेश का मसौदा तैयार किया है,जिसे न्याय विभाग के पास भेजा गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्णय के अनुसार शादी के लिए धर्म परिवर्तन आवश्यक नहीं है। साथ ही सामूहिक धर्म परिवर्तन के मामलों में शामिल संबंधित सामाजिक संगठनों का पंजीकरण निरस्त कर उनके विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बिल-2019 में रोकथाम कानून के लिए सरकार को उप्र फ्रीडम ऑफ रिलीजन का प्रस्ताव भी सौंपा गया था।

Gyan Dairy
Share