UA-128663252-1

मुख्तार गैंग की कमाई पर योगी सरकार की बड़ी चोट,48 करोड़ की आय बंद

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार गुंडों और माफियाओं से सख्ती से निपट रही है। योगी सरकार ने पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के गैंग के आर्थिक साम्राज्य पर बड़ी चोट की है। यूपी पुलिस ने मुख्तार गिरोह की सालाना 48 करोड़ रुपये की आय बंद करा दी है।

यूपी पुलिस ने वाराणसी जोन के अलग-अलग जिलों में मुख्तार गैंग के संरक्षण में चल र​हे प्रतिबंधित मछली कारोबार, स्टोरेज, गिरोह बनाकर वसूली, कोयला कारोबार, बूचड़खाना समेत अन्य अवैध धंधों पर अंकुश लगाकर तगड़ी चोट दी है। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक मुख्तार गैंग को मछली कारोबार से ही करीब 33 करोड़ रुपये की सालाना आय होती थी। बाकी आय दूसरे अवैध कार्यों से होती थी। इन धंधों से पूरा गैंग संचालित होता रहा है।

एडीजी कार्यालय से भेजी गई रिपोर्ट के अनुसार मुख्तार की शह पर गाजीपुर, मऊ व आजगमढ़ में कब्जाई गई 120 करोड़ रुपये की संपत्ति अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई है। बृजभूषण, एडीजी, वाराणसी जोन ने बताया कि मुख्तार व उसके करीबियों की 48 करोड़ की सालाना आय बंद की गई है। 120 करोड़ की संपत्तियां इनके कब्जे से मुक्त कराते हुए अवैध कार्य में संलिप्त करीबियों पर कार्रवाई जारी है। पूर्वांचल में दशकों से अपराध का पर्याय बने इस गिरोह पर शिकंजा कसने लगा है।

Gyan Dairy

अब तक मुख्तार अंसारी के नजदीकियों को सरकारी ठेके आसानी से मिल जाते थे। उन ठेकेदारों की काम की गुणवत्ता भी बेहद खराब बताई जा रही है। ऐसे आठ ठेकेदारों को चिह्नित कर इनका चरित्र प्रमाणपत्र रद करा दिया गया है। अब वे सरकारी ठेके नहीं ले पाएंगे।

Share