जब आसमान से ट्रक पर गिरी बिजली, काफी देर तक होते रहे धमाके

जयपुर: राजस्थान में कोरोना संकट के बीच लगातार मौमस का कहर जारी है। पहले जैसलमेर में तूफान ने किसानों को फसलों को उड़ा दिया। कई हजार पेड़ उखड़ गए। बिजली के खंभे एक दूसरे पर गिर गए। कई घायल हो गए। अब भीलवाड़ा जिले में गैस सिलेंडर से भरे ट्रक पर बिजली गिर गई। ढाई घंटें तक ऐसे धमाके हुए जैसे बमबारी हो रही हो।

मौसम का रुख अभी भी कुछ राज्यों के लिए कहर बरपाने वाला है। पिछले तीन दिनों से रास्थान पर मौमस की नजरे टेढ़ी हैं। बाकी राज्यों जैसे एमपी, यूपी और महाराष्ट्र में आंधी और हल्की बारिश के साथ कही-कहीं ओले पड़े। वहीं राजस्थान में बारिश, आंधी और ओले के अलावा तेज तूफान ने किसानों के खेत उजाड़ दिए। कई महीनों की मेहनत और खेतों में लगे पैसों को खाक में मिला दिया। किसान वहां रो रहे हैं।

बेरंग हुई होली: जैसलमेर में इस बार किसानों की होली बेरंग हो गई है। वजह ये नहीं है कि वहां कोरोना के चलते लोग होली नहीं खेलेंगे तेज तूफान और बारिश ने किसानों की करोड़ों की फसल बर्बाद कर दी है। जिन फसलों को बेचकर वे काफी कुछ प्लान करके बैठे थे उनका एक दाना भी घर आना अब मयस्सर हो गया है।

 

लोगों ने कहा- हमला हो गया क्या:

मंगलवार की रात भीलवाड़ा से गुजरने वाले जयपुर-कोटा हाईवे पर हनुमान नगर के पास एक ट्रक में गैस सिलेंडर लदे थे। अचानक तेज गर्जना के साथ ट्रक पर बिजली गिर गई। फिर क्या था। एक के बाद एक कुल 450 गैस सिलेंडरों में विस्फोट हुआ। ढाई घंटे तक तेज धमाके होते रहे। आसपास लोग डर गए। बोले – लग रहा है हमला हो गया। इस दुर्घटना के बाद NH-52 को घंटों बंद रखा गया। अब वहां सिलेंडर के टुकड़े इकट्ठे किए जा रहे हैं। ट्रक ड्राइवर काफी झुलस गया है। उसने जैसे-तैसे खुद की जान बचाई।

 

Gyan Dairy

घरों की छतों पर गिरे टुकड़े, फिर ये किया लोगों ने:

सिलेंडर में तेज धमाकों के बाद टुकड़े घरों की छतों पर भी जा गिरे। छत पर टुकड़ों के गिरते ही तेज आवाज आई और लोग बुरी तरह डर गए। पास स्थित पूरे गांव में दहशत मच गई।

 

अभी यहां हो सकती है वर्षा:

मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। दिल्ली और उसके आसपास देर शाम तक बादल छा सकते हैं और हल्की धूलभरी आंधी चलने का अनुमान है।

Share