UA-128663252-1

विश्व के 50 देशों के युवा स्वर्ण भारत परिवार के साथ एक मंच से लेंगे विश्व शांति की शपथ

ग्लोबल गांधी शांती पुरस्कार से सम्मानित होंगे देश विदेश के 51 विशिष्ट युवा

आगामी 2 अक्टूबर को विश्वशान्ति के अग्रदूत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयन्ती के अवसर पर स्वर्ण भारत परिवार के अध्यक्ष पीयूष पंडित ने अंतर्राष्ट्रीय युवा विकास और वैश्विक गांधी शांति पुरस्कार व शिखर सम्मेलन का आयोजन किया है। साथ ही विश्व के कोने-कोने से युवाओं के विकास के लिए एवं विश्व शांति के लिए कार्य कर रहे युवाओं को गूगल मीट पर ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है। जिसमें युवाओं की समस्याओं और उनके विकास पर चर्चा के साथ-साथ विश्व के विशिष्ट 51 युवाओं को इस क्षेत्र में काम करने के लिए सम्मानित किया जाएगा। आज शपथ का प्रारूप जारी किया गया जो इस प्रकार है ।

Gyan Dairy

प्रणाम स्वर्ण भारत, मेरा नाम—–मैं पद, कार्य, स्थान
भारत का सुनहरा इतिहास इस की विशाल आबादी संस्कृति ,सुंदर और मजबूत है।
भारत के कण-कण में अहिंसा है शांति है और यही हमारा मूल मंत्र है।
मैं शपथ लेता हूं कि मानव जाति की प्रगति के लिए मैं अपनी शक्ति ,बुद्धि और कौशल से संपूर्ण विश्व की शांति और युवाओं के विकास में, और भारत का इतिहास जो हमेशा शांतिप्रिय देश के रूप में रहा है,मैं अपनी भागीदारी निभाउगा। युवाओं के आज के प्रयास भावी भविष्य और आगामी पीढ़ी के लिए बेहतर कल का निर्माण कर सकें,
स्वर्ण भारत परिवार की विश्व शांति और सद्भावना की इस मुहिम “एक नई सभ्यता हेतु एकजुट निर्णय”महात्मा गांधी के जीवन से सत्य और अहिंसा शांति के लिए संघर्ष की प्रेरणा लेकर विश्व शांति में अपनी पूर्ण भागीदारी निभाउंगा। स्वर्ण भारत परिवार को धन्यवाद कि मुझे ग्लोबल गांधी शांति अवॉर्ड 2020 हेतु चयनित करने हेतु मैं निरंतर विश्व शांति और सौहार्द्र के लिए काम करता रहूंगा | मीडिया प्रभारी ने बताया वैश्विक शांति का महाकुम्भ गांधी जयंती पर होगा आयोजित ।

Share