Home UTTAR PRADESH सुरक्षा के माहौल से यूपी बना निवेशकों का पसंदीदा स्थान : सीएम...

सुरक्षा के माहौल से यूपी बना निवेशकों का पसंदीदा स्थान : सीएम योगी आदित्यनाथ

40
0
Yogi
Yogi

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने कहा कि सुदृढ़ कानून व्यवस्था, निवेश के लिए अनिवार्य शर्त है। आज उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरे देश में नजीर के रूप में ली जा रही है। गत पांच वर्षों में इस दिशा में जो कदम उठाए गए, उसके अपेक्षित परिणाम सामने आए हैं। सुरक्षा का माहौल बना तो यूपी निवेशकों का पसंदीदा स्थान बन गया। शानदार कानून व्यवस्था के चलते उत्तर प्रदेश निवेश सुरक्षा की सबसे बड़ी गारंटी है। यूपी में निवेशक भी सुरक्षित हैं और उनका पूंजी निवेश भी। सुरक्षा से निवेश होगा, निवेश से विकास होगा। लोगों को काम मिलेगा और सबके जीवन में खुशहाली आएगी

सीएम योगी (CM Yogi) रविवार को गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) में 143.69 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के लोकार्पण-शिलान्यास व एक हजार करोड़ रुपये से अधिक का निवेश प्रस्ताव देने वाले निवेशकों तथा रेडीमेड गारमेंट क्लटर के उद्यमियों के भूमि आवंटन पत्र वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2024 तक भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है। आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा राज्य होने के कारण इसमें यूपी से स्वाभाविक तौर पर अपेक्षाएं अधिक होंगी। प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप हम अपनी अर्थव्यवस्था को नई ऊंचाइयों तक ले जाने में तभी सफल होंगे जब निवेश की गति निरंतर तेज होती रहेगी।

एक ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का प्रदेश बनने में देर नहीं

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में अग्रणी भूमिका निभाने के लिए अगले कुछ वर्षों में हमें उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का प्रदेश बनाना है। प्रदेश की 25 करोड़ जनता मिलकर पीएम की मंशा के अनुरूप आगे बढ़ रही है। ऐसे में एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने में देर नहीं लगेगी। सीएम ने कहा कि उनकी सरकार के पहले कार्यकाल में 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश प्रस्ताव धरातल पर उतारे गए। इस सिलसिले को बढ़ाते हुए 3 जून को प्रदेश के तीसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 75 हजार करोड़ रुपये से अधिक की निवेश परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़ी औद्योगिक परियोजनाओं के साथ ही सरकार ने परम्परागत उद्यम को ओडीओपी में शामिल कर तथा परम्परागत शिल्पकारों के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना चलाकर लाखों लोगों के जीवन में खुशहाली लाने का काम किया।

विकास की नई आभा के साथ बुलंदियों को छूने को उतावला उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का उत्तर प्रदेश अनावश्यक मुद्दों से दूर रहकर विकास की नई आभा के साथ बुलंदियों को छूने को उतावला है। आप सबने देखा कि कैसे श्रीराम नवमी, हनुमत जयंती और ईद का पर्व यहां पूरी शांति के साथ सम्पन्न हुआ। ‘सड़कें चलने के लिए होती हैं, आस्था के लिए धर्म स्थल हैं।’ इस संदेश से सड़कों पर धार्मिक गतिविधियां नहीं हुईं। माइक लगाकर उपासना व्यक्तिगत आस्था का विषय हो सकता है, इसे जबरन थोपा नहीं जा सकता। बहुत शांतिपूर्ण तरीके से प्रदेश में एक लाख से अधिक माइक या तो उतारे गए या उनकी आवाज कम की गई।

विकास की नई कहानी लिख रहा गोरखपुर

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि कभी माफिया और पिछड़ेपन के चलते बदनाम रहा गोरखपुर विकास की नई कहानी लिख रहा है। यहां गीडा में उद्योगों के ढेर सारे प्रस्ताव प्राप्त हो रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से जुड़ा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे गीडा को जैतपुर में कनेक्ट कर रहा है। लिंक एक्सप्रेस वे के किनारे बनने वाले औद्योगिक क्लस्टर से नौजवानों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। उन्हें अपने जनपद में ही रोजगार व नौकरी मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि गीडा की स्थापना 40 साल पहले हुई थी लेकिन विकास भाजपा सरकार ने शुरू किया। माफिया का सफाया कर कानून व्यवस्था का राज स्थापित किया। बुनियादी सुविधाओं को लेकर जो शिकायतें थीं, उसे दूर किया गया।

सुगम हुआ आवगमन, पर्यटन और रोजगार की संभावनाओं को लगे पंख : CM Yogi

गीडा में विकास को लेकर हुए और हो रहे बदलाव की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां गारमेंट क्लस्टर के साथ ही फ्लैटेड फैक्ट्री का भी अभिनव प्रयोग किया जा रहा है। फ्लैटेड फैक्ट्री में एक के स्थान पर तमाम उद्यमी अपना उद्यम स्थापित करेंगे। इससे हजारों नौजवानों व महिलाओं को रोजगार मिलेगा। यहां की ऊर्जा और पूंजी लाभ का इस्तेमाल अब यहीं हो सकेगा। इसी तरह गीडा में प्लास्टिक पार्क की योजना मूर्त रूप लेने जा रही है। आईटी पार्क के लिए भूमि आवंटन का कार्य आगे बढ़ चुका है। सीएम ने एम्स व खाद कारखाने से आए बदलाव का जिक्र भी अपने सम्बोधन में किया।

गोरखपुर व बुंदेलखंड में औद्योगिक विकास के लिए विशेष पैकेज

सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने गोरखपुर व बुंदेलखंड के औद्योगिक विकास के लिए विशेष पैकेज की व्यवस्था की। उद्यमियों को अच्छा इंसेंटिव प्रदान किया। आज उसका परिणाम दोनों क्षेत्रों में देखने को मिल रहा है।

औद्योगिक विकास के साथ पर्यावरण संरक्षण पर भी पूरा ध्यान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट किया है कि गीडा क्षेत्र में औद्योगिक विकास के साथ ही पर्यावरण संरक्षण पर भी उनकी सरकार का पूरा ध्यान है। उन्होंने कहा कि गीडा में प्रदूषणमुक्त उद्योग लगेंगे या उन्हें सीटीईपी से जुड़ना होगा। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि नदी में प्रदूषण न गिरने पाए। उन्होंने चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज से अपील की कि वह गीडा में प्रशासन के साथ मिलकर खाली जमीनों पर वृक्षरोपण कर क्षेत्र को विकसित के साथ हरा भरा बनाने में भी योगदान दे।

छह नए निवेशकों व रेडीमेड गारमेंट क्लस्टर के पांच उद्यमियों को सीएम के हाथों मिला भूमि आवंटन पत्र

गीडा में उद्योग लगाने को निवेश प्रस्ताव देने वाले केयान डिस्टलरी प्राइवेट लिमिटेड को 20 एकड़, तत्वा प्लास्टिक प्राइवेट लिमिटेड को 5.5 एकड़, सीपी मिल्क एंड फूड प्रोडक्ट प्राइवेट लिमिटेड, क्वार्ट्ज ओपलवेयर प्राइवेट लिमिटेड, आदित्य मोटर प्राइवेट लिमिटेड तथा बुद्धा मेडिकल ट्रस्ट के प्रमुखों/प्रतिनिधियों को 5-5 एकड़ भूमि आवंटन पत्र का वितरण सीएम योगी के हाथों हुआ। इन नए निवेशकों की तरफ से कुल 1005 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है। इसके माध्यम से करीब 2700 नए रोजगार का सृजन होगा। योगी सरकार की पहल पर गीडा के भीटी रावत सेक्टर 26 में 25 एकड़ भूमि पर 101 भूखंड का गारमेंट क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। इसमें 56 भूखंडों के आवंटन पत्र जारी किए गए। इनमें से पांच भूखंड के उद्यमियों को भी मुख्यमंत्री के हाथों आवंटन पत्र प्राप्त हुआ। रेडीमेड क्लस्टर के इन सभी भूखंडों पर करीब 50 करोड़ रुपये का निवेश होगा जिससे 1500 लोगों को रोजगार मिल सकेगा। इस तरह सीएम योगी की मौजूदगी में रविवार को गीडा में एक हजार करोड़ रुपये से अधिक के निवेश और 4200 नए रोजगार का मार्ग प्रशस्त हुआ।

बुनियादी सुविधाओं के लिए लिए गीडा को 143.69 करोड़ की सौगात

समारोह के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस गीडा के अलग-अलग सेक्टर में बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए 143.69 करोड़ रुपये की सौगात दी। उन्होंने 67.86 करोड़ रुपये की लागत की परियोजनाओं का लोकार्पण व 75.83 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस अवसर पर सांसद रवि किशन,कमलेश पासवान, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद, महापौर सीताराम जायसवाल, बीजेपी के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, विधायक प्रदीप शुक्ला, विपिन सिंह, राजेश त्रिपाठी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, जिलाधिकारी विजय किरन आनंद, सीडीओ इंद्रजीत सिंह, सीईओ गीडा पवन अग्रवाल,

चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विष्णु अजितसरिया, पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल समेत कई उद्यमी, अधिकारी आदि मौजूद रहे।

उद्यमियों के स्टालों का अवलोकन किया सीएम योगी ने लोकार्पण-शिलान्यास तथा उद्यमियों को भूमि आवंटन पत्र सौंपने के समारोह में गीडा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उद्यमियों द्वारा अपने उत्पादों के लगाए स्टालों का भी अवलोकन किया। उनसे बातचीत की और उनका उत्साह बढ़ाया। यहां डिस्टलरी, फूड प्रोडक्ट, फर्नीचर-लमिनेट्स, सरिया, ई वेहिकल आदि के उद्यमियों ने स्टाल लगाए थे। सीएम ने एक स्टाल पर प्रदर्शित प्लास्टिक पार्क के मॉडल को भी देखा।

सीएम योगी ने गोरखपुर को दी 144 करोड़ की सौगात, निवेशकों को सौंपे भूमि आवंटन का प्रपत्र

Previous articleपूनम पांडे हुई oops moment का शिकार, खिसका क्रॉप टॉप
Next articleविकास ही उज्ज्वल व मंगलमय भविष्य की गारंटी : सीएम योगी