माता-पिता की हत्या के बाद 16 साल की गुल ने उठाई एक-47, 2 आतंकियों को भून डाला

दुनियाभर में अपने खूंंखार आतंकवादियों के लिए कुख्‍यात अफगानिस्‍तान में एक 16 वर्षीय लड़की का इंतकाम चर्चा का विषय बन गया है। इस लड़की ने तालिबान के आतंकियों के खिलाफ जो लड़ाई लड़ी वह एक मिसाल बन गई है। उसके इंतकाम से तालिबान आतंकियों की रूह कांप गई। लड़की का नाम है कमर गुल, जिसने अपने मां-बाप की हत्या का बदला लिया है।

बाहर निकली, और भून डाला

अफगानिस्तान के घोर प्रांत में पिछले हफ्ते ये लड़ाके गुल के घर में घुस गए उनके माता-पिता को मार डाला। इसके बाद गुल बाहर निकलीं और AK-47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर डाली जिसमें वे दोनों लड़ाके मारे गए और दूसरे घायल हो गए। बाद में दूसरे लड़ाके भी गुल के घर आए लेकिन गांववालों को सरकार के समर्थकों ने गनफाइट के बाद उन्हें भगा दिया। अफगान के सुरक्षाबल अब गुल और उनके भाई को सुरक्षित स्थान पर लेकर चले गए हैं।

गुल की बहादुरी को सलाम

Gyan Dairy

घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया गुल की बहादुरी को सलाम कर रही है। इतनी कम उम्र में इस हिम्मक से लड़ाकों का सामना करने के लिए हर कोई उनके जज्बे को सलाम कर रहा है। तालिबान अक्सर ही सरकार और सुरक्षाबलों का समर्थन करने वाले लोगों को मार डालता है। हाल के महीनों में काबुल के साथ शांतिवार्ता के बावजूद तालिबान ने हमले तेज कर दिए हैं।

 

Share