अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी बोले- अपनी मिट्टी और सम्मान की रक्षा के लिए जारी रहेगा संघर्ष

काबुल। अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी के बाद तालीबानी आतंकियों के हमले तेजी से बढ़ गए हैं। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने बुधवार को बकरीद के मौके पर दिए गए अपने संबोधन में राष्ट्रपति भवन के पास तीन रॉकेट दागे जाने की कड़ी निंदा की। राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा कि तालिबान की शांति प्रक्रिया में उसकी कोई दिलचस्पी नहीं है। राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा कि हमने कुछ दिन पहले एक प्रतिनिधिमंडल भेजकर शांति व्यवस्था कायम करने की इच्छा जताई थी। हालांकि तालीबान का ऐसा इरादा नहीं है। अशरफ गनी ने कहा कि हमारे सुरक्षा बलों अपनी मिट्टी और सम्मान की रक्षा के लिए संघर्ष जारी रखेंगे।

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा कि बीते तीन महीनों में हमारे सुरक्षा बलों ने बड़ा बलिदान दिया है। राष्ट्रपति ने कहा कि बीते सप्ताह मैंने एक प्रैक्टिकल प्लान पर काम करने के लिए प्रयास किया था। यह प्लान अब तैयार हो गया है और सुरक्षा के मामले में इसे दो हिस्सों में तैयार किया गया है। उन्होंने ईद के मौके पर लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि अफगानिस्तान का भविष्य अफगानों की ओर से तय किया जाएगा। तालिबान पर हमला बोलते हुए गनी ने कहा कि हमने बीते कुछ दिनों में तालीबान के 5,000 कैदियों को जेल से रिहा किया गया है।

Gyan Dairy
Share