अमेरिका ने स्वीकारा, आधे अफगानिस्तान पर तालीबान ने किया कब्जा

काबुल। अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी के साथ ही तालिबान ने एक बार फिर अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। अमेरिका ने भी माना है कि अफगानिस्तान में सुरक्षा बलों के मुकाबले अब तालिबान भारी हो गया है। अमेरिकी सेना के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष मार्क मिले ने कहा कि अफगानिस्तान के आधे जिला मुख्यालयों पर तालिबान के लड़ाकों ने कब्जा कर लिया ​है। उन्होंने कहा कि यह अफगानिस्तान सरकार और वहां के नागरिकों की इच्छाशक्ति एवं नेतृत्व की कठिन परीक्षा का समय है।

अमेरिकी सेना के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष मार्क मिले ने कहा कि अफगानिस्तान के 419 जिला केंद्रों में से अब 50 फीसदी पर तालिबान का कब्जा है। हालांकि तालीबान ने अफगानिस्तान की 34 प्रांतीय राजधानियों में से किसी पर कब्जा नहीं किया है। तालिबान अधिक क्षेत्रों पर कब्जा कर रहा है। वहीं, अफगान सुरक्षा बल काबुल सहित प्रमुख जनसंख्या वाले शहरों में सुरक्षा के लिए अपनी स्थिति मजबूत कर रहे हैं। तालिबान ने बीते एक माह में ही अफगानिस्तान के 81 जिला मुख्यालयों पर कब्जा किया है। इससे पहले अफगानिस्तान में मौजूद 15 डिप्लोमैटिक मिशनों और नाटो के प्रतिनिधि ने भी तालिबान से हिंसा रोकने की मांग की थी।

Gyan Dairy

बता दें कि अफगानिस्तान से अमेरिकी बलों की वापसी की प्रक्रिया 95 प्रतिशत पूरी हो चुकी है। आगामी 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की पूरी तरह से वापसी हो जाएगी। अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि अमेरिकी सेना के प्रयास तालिबान पर नहीं, बल्कि आतंकवादी खतरों से निपटने पर केंद्रित होंगे।

Share