अमेरिका: कैनेडी की हत्या करने वाले को 53 साल बाद मिलेगी रिहाई, बेटों ने पैरोल पर दी सहमति

वाशिंगटन। संयुक्त राज्य अमेरिका में न्यूयार्क के सीनेटर रहे राबर्ट एफ कैनेडी की हत्या में सजायाफ्ता सरहान बिशारा की रिहाई हो सकती ​है। साल 1968 में राबर्ट एफ कैनेडी की हत्या करने के बाद 1969 में गिरफ्तार किए अपराधी सरहान बिशारा को पैरोल पर रिहा करने की सिफारिश की गई है। सीनेटर राबर्ट एफ कैनेडी की हत्या में बंद 77 वर्षीय सरहान ने पैरोल पर रिहा करने का अनुरोध अदालत से किया था।

अदालत ने सीनेटर राबर्ट के बेटों को अपना बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया था। उनके दोनों बेटों ने अदालत में पेश होकर सरहान को पैरोल पर रिहा करने पर सहमति जताई है। सरहान बिशारा को कैलिफोर्निया में 1969 से कैद किया हुआ है। सरहान बिशारा एक फलस्तीन अपराधी है। उसने दो साल की उम्र में ही अपने पिता को गोली मार अपराधी जीवन की शुरूआत की थी। राबर्ट के पुत्र ने अदालत में कहा कि वह यह देखकर अभिभूत हैं कि जिसके डर में वह कई वर्ष तक जीते रहे, आज उसके बारे में मानवीय दृष्टिकोण की जरूरत है। वह अब दया का पात्र है।

सरहान बिशारा को इससे पहले 15 बार सुनवाई के दौरान पैरोल नहीं मिल सकी थी। पैरोल सुनवाई पैनल के बोर्ड द्वारा नवीनतम निर्णय अब बोर्ड के कानूनी कर्मचारियों द्वारा 120 दिनों की समीक्षा के अधीन है। वहीं, कैलिफोर्निया के गवर्नर के हाथ में फैसला है। अगर उनके रिहाई में कुछ गलत नहीं लगता है कि जल्द उसके जेल से बाहर आने का रास्ता साफ होगा।

Gyan Dairy

फ़िलिस्तीन में जन्मे सिरहान बिशारा को 5 जून, 1968 को लॉस एंजिल्स में एंबेसडर होटल के किचन पेंट्री में राबर्ट एफ कैनेडी 42 वर्ष को गोली मारने का दोषी ठहराया गया था। सिरहान ने कहा है कि उन्हें हत्या से जुड़ी बातें याद नहीं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि उन्होंने कैनेडी पर गोली चलाई क्योंकि वह इजरायल के समर्थन से नाराज थे।

Share