ताइवान की सीमा में घुसे चीन के लड़ाकू विमान, खदेड़े गए

ताइपे। चीन अपने पड़ोसियों की अस्मिता से खिलवाड़ करने से बाज नहीं आ रहा है। अब ड्रैगन ने ताइवान की वायु सीमा में घुसकर अंतरराष्‍ट्रीय नियमों का मखौल उड़ाया है। चीन के लड़ाकू विमान ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन में घुस गए थे। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि पिपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी एयर फोर्स के लड़ाकू विमान हमारी सीमा में घुसे थे।

ताइवान ने पहले इन विमानों को रेडियो वार्निंग दी, इसके बाद अपने विमानों को चीन के लड़ाकू विमानों को खदेड़ने के लिए भेजा। चीन के लड़ाकू विमानों को ताइवान के एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम ने ट्रैक किया था। इससे पहले चीन के विमानों ने इस तरह की हरकत 2,3 और 4 जुलाई को भी की थी।

ताइवान का कहना है कि चीन को अपनी हरकत पर दोबारा विचार करने की जरूरत है। दरअसल, चीन ताइवान को अपना हिस्‍सा मानकर उस पर अधिकार जताता है। चीन से अलग ताइवान में करीब ढाई करोड़ लोग रहते हैं। बीते सात दशकों से ताइवान एक स्‍वतंत्र राष्‍ट्र की तरह अपना काम कर रहा है। ताइवान चीन के अधिकार को गलत बताते हुए खुद को एक स्‍वतंत्र राष्‍ट्र मानता है।

Gyan Dairy

ताइवान ने चीन द्वारा यहां पर भेजे गए लड़ाकू विमानों को कई बार बाहर खदेड़ने का काम किया है। कई बार दोनों के बीच यहां के अधिकार को लेकर तीखी बयानबाजी भी हो चुकी है। अमेरिका के साथ ताइवान के संबंध मजबूत होने की वजह से भी चीन को काफी खतरा महसूस होता है। चीन पहले भी कई बार अमेरिका और ताइवान के रिश्‍तों को लेकर भड़क चुका है। चीन अमेरिका को आगाह कर चुका है कि ताइवान को स्‍वतंत्र राष्‍ट्र बताना युद्ध की शुरुआत करना है।

Share