कोरोना जांच के लिए चीन में गले और नाक की जगह मलद्वार से स्वाब लेकर कर रहे है टैस्ट,जानें पूरा मामला

बीजिंग। पूरे विश्व में फैले कोरोना महामारी के बीच चीन ने जांच करने का नया तरीका खोज निकाला है। चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस की जांच के लिए अब बीजिंग ने अलग तरीका निकाला है। चीन के कई शहरों ने अब कोरोना की जांच के लिए गले और नाक की बजाय ऐनल स्वाब मल द्वार से स्वाब लेना शुरू कर दिया है। चीन के डॉक्टरों का कहना है कि ऐनल स्वाब से मिले परिणाम ज्यादा सटीक होंगे। इसके बाद हीअधिकारियों ने बताया कि, बीते हफ्ते बीजिंग में रहने वाले कई कोरोना संक्रमितों के मलद्वार से स्वाब लिया।

इनके अलावा जो लोग क्वॉरंटीन फैसिलिटी में थे उनके भी मलद्वार से ही स्वाब लिया गया। हाल के हफ्तों में उत्तरी चीन ममें कोरोना के तेजी से बढ़ने के मामले सामने आए है। जिसके बाद देश में कोरोना जांच का अभियान शुरू हुआ है। बीजिंग के यूआन अस्पताल के डॉक्टर ली तोंगेजेंग के अनुसार, ऐनल स्वाब प्रक्रिया से संक्रमितों का पता लगाने की दर में तेजी ला सकती है, रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट की तुलना में वायरस मलद्वार में ज्यादा समय तक मौजूद रहता है। चीन के वुहान शहर में फैले कोरोना वायरस के मामले बढ़ने की वजह से कई तरह की सख्त पाबंदियां लगा दी गई हैं जिनमें से एक विदेशों से आने वाले यात्रियों पर भी रोक लगी हुई है।

Gyan Dairy
Share