आखिरी वक्त पर White House छोड़ने से कर सकते हैं इनकार Donald Trump

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की जिद जारी है. उन्होंने अपने सहयोगियों से कहा है कि वे 20 जनवरी को भी व्हाइट हाउस (White House) नहीं छोड़ेंगे. यदि ट्रंप अपनी जिद पर अड़े रहते हैं, तो अमेरिका (America) के सामने संवैधानिक संकट खड़ा हो जाएगा. क्योंकि 20 जनवरी को ही नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) शपथ लेने वाले हैं. डोनाल्ड ट्रंप शुरुआत से ही कहते आए हैं कि उन्हें साजिश के तहत चुनाव में हराया गया. उन्होंने कई राज्यों में बाइडेन की जीत को चुनौती भी दी थी, लेकिन उनकी दलीलें अदालतों में टिक नहीं सकीं. अब अपनी जिद के चलते वे अमेरिका को एक नए संकट की तरफ धकेल रहे हैं.  

Team भी है हैरान

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपने सहयोगियों से कहा है कि वे इनॉगरेशन डे (Inauguration Day) पर भी व्हाइट हाउस नहीं छोड़ेंगे. बता दें कि अमेरिका में शपथ ग्रहण समारोह को पारंपरिक तौर पर इनॉगरेशन डे कहा जाता है. ट्रंप की इस जिद से उनकी टीम भी हैरान है. एक सलाहकार ने कहा कि अब ट्रंप को व्हाइट हाउस छोड़ना ही होगा, उनके पास कोई विकल्प नहीं है. इस खबर पर व्हाइट हाउस की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

कानूनी लड़ाई जारी रहेगी

Gyan Dairy

वहीं, व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायली मैकनेनी ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तीन नवंबर को हुए चुनाव से संबंधित कानूनी लड़ाई जारी रखेंगे. उन्होंने चुनावों के खिलाफ ट्रंप द्वारा दायर मुकदमों का बचाव करते हुए कहा कि मुझे नहीं लगता है कि न्यायिक प्रणाली का इस्तेमाल करना किसी तरह से लोकतंत्र पर हमला है. मैकनेनी ने कहा कि हमने वही किया जो सही था, न्यायिक प्रणाली का इस्तेमाल करना लोकतंत्र पर हमला कैसे हो सकता है.

समिति ने लोगों से की ये अपील

उधर, शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन करने वाली समिति ने लोगों से अपील की है कि वे कोरोना (CoronaVirus) संक्रमण को देखते हुए शपथ ग्रहण में हिस्सा लेने के लिए यात्रा करने से बचें. बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में लोगों की संख्‍या सीमित रखी जाएगी. समारोह के आयोजन से जुड़ी ज्वाइंट कांग्रेसनल कमेटी  का कहना है कि COVID-19 संक्रमण से बचने के एहतियाती उपायों के तहत कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों की संख्या में कम रखी जाएगी. इसके अलावा, अन्य जरूरी उपाए भी किए जाएंगे, ताकि संक्रमण के खतरे को सीमित किया जा सके.

Share