ड्रैगन की करतूत: लद्दाख के चांगथांग में घुसे चीनी सैनिक, ITBP और स्थानीय नागरिकों खदेड़ा

नई दिल्ली। सीमा पर जारी तनाव के बावजूद पड़ोसी देश चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। अब पूर्वी लद्दाख के न्योमा इलाके के चांगथांग गांव में चीनी सैनिक दो गाड़ियों से सिविल ड्रेस में आ धमके। स्थानीय लोगों ने चीनी सैनिकों को इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों के सहयोग से खदेड़ दिया। बताया जा रहा है कि जांगथांग गांव लद्दाख में लेह से 135 किमी पूर्व में स्थित है। चीनी सैनिकों के वहां जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

बताया जा रहा है कि सिविल ड्रेस में आये चीनी सैनिक वहां रहने वाले खानाबदोश लोगों के साथ बहस कर रहे थे। चीनी सैनिक चाह रहे थे कि उनके मवेशी भी उस इलाके में चरने के लिए आ सकें। हालांकि स्थानीय निवासियों ने आईटीबीपी को इस बाबत सूचित किया। इसके बाद आईटीबीपी के जवान वहां पहुंचे और चीनी सैनिकों को बलपूर्वक खदेड़ दिया।

Gyan Dairy

स्थानीय लोगों द्वारा शूट किए गए एक वीडियो में दिख रहा है कि दो चीनी वाहन जिसमें सिविल ड्रेस में सैनिकों का एक समूह बैठा हुआ था चांगथांग में भारतीय क्षेत्र में आया था। स्थानीय लोगों के कड़े विरोध के बाद उन्हें वापस लौटना पड़ा। वहीं आईटीबीपी के जवान भी उन्हें खदेड़ने के लिए पहुंच गए थे।  बता दें कि लेह के चांगथांग में तिब्बती शरणार्थी बहुतायत में बसे हुए हैं। चांगथांग रशपो घाटी में समुद्र तल से करीब 14,600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। बताया जा रहा है कि यह गांव चांगपा खानाबदोशों का घर है।

Share