शासक और सेना से लैस होने के बाद भी दुनिया के नक्शे में नहीं हैं ये देश, जानें वजह

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 सदस्य देश हैं। हालांकि इनमें ताइवान और कोसोवो शामिल नहीं हैं। दुनिया के ऐसे 7 देश जो दुनिया के नक़्शे में नहीं है और इन देशों के बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं। खास बात यह है कि इन देशों की अपनी सरकार और मुद्रा है। अपनी अलग सीमा के साथ ही ये देश अपनी सेना भी रखते हैं। आइये जानते हैं इन देशों के बारे में।

ट्रांसनिस्ट्रीया: ट्रांसनिस्ट्रीया भले ही दुनिया के नक्शे से गायब है लेकिन इस देश की अपनी एक अलग सेना, करेंसी और झंडा भी है। साल 1990 में ये देश चिसिनाऊ से अलग हो गया था।

सोमालिलैंड: साल 1991 में सोमालिया में अचानक हिंसा भड़क गई थी और इसी दौरान सोमालिया के नार्थ-वेस्ट हिस्से ने खुद को आजाद घोषित कर दिया था। इस देश का झंडा, करेंसी भी अलग है।

इराकी कुर्दिस्तान: इराक के नजदीक स्थित इराकी कुर्दिस्तान साल 1970 से ही इराक के अंदर आजाद देश की हैसियत से मौजूद है। इस देश की अपनी अलग आर्मी, सरकार और बॉर्डर भी है।

वेस्टर्न सहारा: सहारन अरब डेमोक्रेटिक रिपब्लिक यानी वेस्टर्न सहारा दुनिया की नजरों से छुपा हुआ एक देश है। ये देश अफ्रीकन यूनियन का हिस्सा है। 5 लाख लोगों की आबादी वाला ये देश अपनी आजादी की लड़ाई लड़ रहा है।

Gyan Dairy

अब्खाजिया: अब्खाजिया देश पहले जोर्जिया का हिस्सा हुआ करता था लेकिन सोवियत यूनियन के गिरने के बाद इस देश ने अपनी आजादी की मांग की। जिसके बाद साल 1993 में इसे आजाद देश घोषित कर दिया गया।

सेबोर्गा: इटली में वैटिकन सिटी और सुन मरीनो के अलावा एक और छोटा सा देश मौजूद है जिसे सेबोर्गा कहा जाता है। सेबोर्गा एक छोटा सा पहाड़ी देश है जो न्यूयॉर्क के सेंट्रल पार्क जितना बड़ा है।

पुंतलैंड: सोमालिया से अलग होकर सोमालिलैंड बना फिर उसके बाद पुंतलैंड अलग हुआ। सोमालिलैंड ने जहां शांति बनाए रखी तो वहीं पुंतलैंड पर आईएसआईएस का कब्जा रहा।

Share